Tech & Travel

Follow for more updates

Up Panchayat Chunav Result 2021: Recommendation Of Suspension Cdo And Three Officers To State Election Commission – बड़ी कार्रवाईः एटा सीडीओ सहित तीन अधिकारियों के निलंबन की संस्तुति, जानिए क्या था मामला

सार

भाजपा के सांसद और विधायकों ने गुरुवार को डीएम से मिलकर कार्रवाई की मांग की। डीएम डॉ. विभा चहल ने रिटर्निंग अधिकारी सीडीओ अजय प्रकाश और सहायक रिटर्निंग अधिकारी डिप्टी सीवीओ डॉ. रामहरि को निलंबित करने और विभागीय कार्रवाई के लिए संस्तुति करते हुए राज्य निर्वाचन आयोग को पत्र भेजा है। 

एटा की डीएम व पुलिस अफसर
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

एटा में मतगणना में लापरवाही को लेकर सत्ता पक्ष की चेतावनी के बाद बड़ी कार्रवाई की गई है। सीडीओ सहित तीन अधिकारियों के निलंबन की संस्तुति चुनाव आयोग से की गई है। जिला पंचायत के वार्ड संख्या 10 पर हुई गड़बड़ी का मामला बहुत ज्यादा गरमा गया है। बिना पूरी गणना के सपा प्रत्याशी को विजयी घोषित कर प्रमाण पत्र दे दिया।

बाद में भाजपा के धरना देने के बाद मिलान में भाजपा प्रत्याशी विजयी निकले। इसे लेकर भाजपा के सांसद और विधायकों ने गुरुवार को डीएम से मिलकर कार्रवाई की मांग की। डीएम डॉ. विभा चहल ने रिटर्निंग अधिकारी सीडीओ अजय प्रकाश और सहायक रिटर्निंग अधिकारी डिप्टी सीवीओ डॉ. रामहरि को निलंबित करने और विभागीय कार्रवाई के लिए संस्तुति करते हुए राज्य निर्वाचन आयोग को पत्र भेजा है।

इनके अलावा अलीगंज ब्लॉक पर तैनात रिटर्निंग अधिकारी डिप्टी सीवीओ डॉ. अनिल कुमार के निलंबन और विभागीय कार्रवाई की संस्तुति चुनाव आयोग से की है। ये तीन मई को विजयी प्रत्याशियों को बिना प्रमाण पत्र बांटे और वेबसाइट पर परिणाम अपलोड कराए बिना मतगणना स्थल छोड़कर चले गए थे।
ये था मामला
बुधवार देरशाम से यह हाई वोल्टेज ड्रामा शुरू हुआ, जिसमें सत्ताधारी दल के नेताओं ने ही प्रशासन के विरोध में मोर्चा खोला। डीएम डॉ. विभा चहल ने वार्ड 10 के रिकॉर्ड का दोबारा मिलान कराया। पूर्व में सपा प्रत्याशी को 5787 तथा भाजपा प्रत्याशी को 5446 मत मिले थे। बुधवार दोपहर सपा प्रत्याशी को जीत का प्रमाण पत्र भी दे दिया गया।

देरशाम जिला चुनाव प्रभारी एमएलसी धर्मवीर प्रजापति, मारहरा विधायक वीरेंद्र सिंह लोधी, अलीगंज विधायक सत्यपाल सिंह राठौर, जलेसर विधायक संजीव दिवाकर, भाजपा जिलाध्यक्ष संदीप जैन सहित पार्टी के तमाम पदाधिकारी और कार्यकर्ता कलक्ट्रेट में जमीन पर ही धरना देने बैठ गए। देररात डीएम ने मतगणना अभिलेखों का मिलान कराया। आरओ एवं सीडीओ अजय प्रकाश ने बताया कि कंप्यूटिंग सीट में गलती से बूथ संख्या 28, 29, 125, 152, 170 और 175 की फीडिंग ही नहीं हो सकी थी।

इसे सही कराने के बाद संशोधित परिणाम के आधार पर साधना देवी को 6115 और गजेंद्र पाल को 7113 मत प्राप्त हुए। 998 मतों से विजयी गजेंद्र को रात में ही प्रमाण पत्र जारी कर दिया गया। हालांकि प्रशासन के इस निर्णय से भाजपाइयों का उबाल कुछ कम हुआ। लेकिन उन्होंने डीएम से गड़बड़ी करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग रखी और धरना समाप्त कर चले गए। 

जिला पंचायत चुनाव: एटा के वार्ड-10 का परिणाम बदला, भाजपा प्रत्याशी विजयी घोषित, विधायकों का धरना खत्म

 

विस्तार

एटा में मतगणना में लापरवाही को लेकर सत्ता पक्ष की चेतावनी के बाद बड़ी कार्रवाई की गई है। सीडीओ सहित तीन अधिकारियों के निलंबन की संस्तुति चुनाव आयोग से की गई है। जिला पंचायत के वार्ड संख्या 10 पर हुई गड़बड़ी का मामला बहुत ज्यादा गरमा गया है। बिना पूरी गणना के सपा प्रत्याशी को विजयी घोषित कर प्रमाण पत्र दे दिया।

बाद में भाजपा के धरना देने के बाद मिलान में भाजपा प्रत्याशी विजयी निकले। इसे लेकर भाजपा के सांसद और विधायकों ने गुरुवार को डीएम से मिलकर कार्रवाई की मांग की। डीएम डॉ. विभा चहल ने रिटर्निंग अधिकारी सीडीओ अजय प्रकाश और सहायक रिटर्निंग अधिकारी डिप्टी सीवीओ डॉ. रामहरि को निलंबित करने और विभागीय कार्रवाई के लिए संस्तुति करते हुए राज्य निर्वाचन आयोग को पत्र भेजा है।

इनके अलावा अलीगंज ब्लॉक पर तैनात रिटर्निंग अधिकारी डिप्टी सीवीओ डॉ. अनिल कुमार के निलंबन और विभागीय कार्रवाई की संस्तुति चुनाव आयोग से की है। ये तीन मई को विजयी प्रत्याशियों को बिना प्रमाण पत्र बांटे और वेबसाइट पर परिणाम अपलोड कराए बिना मतगणना स्थल छोड़कर चले गए थे।

Source link