Tech & Travel

Follow for more updates

Taxi Driver Arrested: Spreading Rumours About Oxygen, Remedesvir Shortage And Sachin Pilot – टैक्सी चालक गिरफ्तार: ऑक्सीजन, रेमडेसिविर व सचिन पायलट के बारे में फैला रहा था अफवाह

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जयपुर
Published by: सुरेंद्र जोशी
Updated Sun, 09 May 2021 09:08 PM IST

सार

आरोपी टैक्सी चालक खुद को पत्रकार बताता था। पुलिस ने प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की है। वह फेसबुक पोस्ट के जरिए अफवाह फैला रहा था। 
 

ख़बर सुनें

राजस्थान के एक सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी और कांग्रेस नेता सचिन पायलट को लेकर सोशल मीडिया में गलत जानकारी पोस्ट करने के मामले में एक टैक्सी चालक के खिलाफ प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई है। 

टोंक के पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश ने बताया कि आरोपी नासिर खान खुद को पत्रकार बताता है, लेकिन वास्तव में वह एक टैक्सी चालक है। उसकी आपराधिक पृष्ठभूमि है। उन्होंने बताया कि खान को गिरफ्तार कर लिया गया और सीआरपीसी की धारा 151 के तहत केवल प्रतिबंधात्मक कार्रवाई के बाद उसे रिहा कर दिया गया।

अधिकारी ने बताया कि उसके खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है। खान ने अपनी फेसबुक पोस्ट के माध्यम से स्थानीय प्रशासन पर कोविड-19 की स्थिति से निपटने में कुप्रबंधन का आरोप लगाया था और स्थानीय विधायक सचिन पायलट की अनुपस्थिति के बारे में भी गलत जानकारी दी थी।

बाद में कहा- बुरे सपनों के कारण ऐसा लिखा
उसने बाद में फेसबुक पर अपनी पोस्ट को लेकर स्पष्टीकरण देते हुए कहा, ‘पोस्ट के जरिए रेमडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन की कमी को रेखांकित करना मेरी गलती थी। मुझे दिखाई देने वाले बुरे सपनों के कारण मैंने ऐसा लिखा था। टोंक जिले में पुलिस और स्थानीय प्रशासन बहुत अच्छा काम कर रहे हैं और हमारे पास स्थानीय अस्पताल में स्वास्थ्य संबंधी सभी आवश्यक संसाधन मौजूद हैं।’

विस्तार

राजस्थान के एक सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी और कांग्रेस नेता सचिन पायलट को लेकर सोशल मीडिया में गलत जानकारी पोस्ट करने के मामले में एक टैक्सी चालक के खिलाफ प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई है। 

टोंक के पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश ने बताया कि आरोपी नासिर खान खुद को पत्रकार बताता है, लेकिन वास्तव में वह एक टैक्सी चालक है। उसकी आपराधिक पृष्ठभूमि है। उन्होंने बताया कि खान को गिरफ्तार कर लिया गया और सीआरपीसी की धारा 151 के तहत केवल प्रतिबंधात्मक कार्रवाई के बाद उसे रिहा कर दिया गया।

अधिकारी ने बताया कि उसके खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है। खान ने अपनी फेसबुक पोस्ट के माध्यम से स्थानीय प्रशासन पर कोविड-19 की स्थिति से निपटने में कुप्रबंधन का आरोप लगाया था और स्थानीय विधायक सचिन पायलट की अनुपस्थिति के बारे में भी गलत जानकारी दी थी।

बाद में कहा- बुरे सपनों के कारण ऐसा लिखा

उसने बाद में फेसबुक पर अपनी पोस्ट को लेकर स्पष्टीकरण देते हुए कहा, ‘पोस्ट के जरिए रेमडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन की कमी को रेखांकित करना मेरी गलती थी। मुझे दिखाई देने वाले बुरे सपनों के कारण मैंने ऐसा लिखा था। टोंक जिले में पुलिस और स्थानीय प्रशासन बहुत अच्छा काम कर रहे हैं और हमारे पास स्थानीय अस्पताल में स्वास्थ्य संबंधी सभी आवश्यक संसाधन मौजूद हैं।’

Source link