Tech & Travel

Follow for more updates

Summer Vacations In All Colleges And Universities, Uttarakhand Education Minister Announced Due To Surge Of Covid – उत्तराखंड में कोरोना का कहर: जून तक सभी महाविद्यालयों में ग्रीष्मावकाश, शिक्षा मंत्री ने किया बड़ा एलान

एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला
Published by: वर्तिका तोलानी
Updated Fri, 07 May 2021 05:46 PM IST

सार

कोविड-19 की दूसरे लहर को मद्देनजर रखते हुए मैदानी एवं पर्वतीय क्षेत्र के समस्त राजकीय महाविद्यालयों में 7 मई से 12 जून तक ग्रीष्मावकाश की घोषणा की गई है। 

ख़बर सुनें

कोविड-19 की दूसरे लहर को मद्देनजर रखते हुए मैदानी एवं पर्वतीय क्षेत्र के समस्त राजकीय महाविद्यालयों में 7 मई से 12 जून तक ग्रीष्मावकाश की घोषणा कर दी गई है। उत्तराखंड के उच्च शिक्षा राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार डाॅ. धन सिंह रावत ने शुक्रवार को राज्य के सभी उच्च शिक्षा निदेशक और सभी कुलपतियों को इस संबंध में नोटिस भी भेजा गया है।

जारी नोटिस के मुताबिक वैश्विक महामारी के प्रकोप को देखते हुए महाविद्यालयों ने 5 मई से 12 जून तक ग्रीष्मावकाश घोषित करने का अनुरोध किया गया था। इस स्वीकृति प्रदान करते हुए 7 मई से 12 जून तक ग्रीष्मकालीन अवकाश लगाने का निर्देश दिया जा रहा है।

3 मई काे लिया था सभी सरकारी और निजी विश्वविद्यालयों को बंद करने का निर्णय 
बता दें, राज्य सरकार ने 1 मार्च से प्रदेश के सभी सरकारी व निजी विश्वविद्यालयों और कॉलेज को अगले आदेश तक बंद करने के निर्देश दिए थे। लेकिन समीक्षा बैठक के पश्चात केवल ऑनलाइन कक्षा की ही अनुमति दी गई।

 

विस्तार

कोविड-19 की दूसरे लहर को मद्देनजर रखते हुए मैदानी एवं पर्वतीय क्षेत्र के समस्त राजकीय महाविद्यालयों में 7 मई से 12 जून तक ग्रीष्मावकाश की घोषणा कर दी गई है। उत्तराखंड के उच्च शिक्षा राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार डाॅ. धन सिंह रावत ने शुक्रवार को राज्य के सभी उच्च शिक्षा निदेशक और सभी कुलपतियों को इस संबंध में नोटिस भी भेजा गया है।


जारी नोटिस के मुताबिक वैश्विक महामारी के प्रकोप को देखते हुए महाविद्यालयों ने 5 मई से 12 जून तक ग्रीष्मावकाश घोषित करने का अनुरोध किया गया था। इस स्वीकृति प्रदान करते हुए 7 मई से 12 जून तक ग्रीष्मकालीन अवकाश लगाने का निर्देश दिया जा रहा है।

3 मई काे लिया था सभी सरकारी और निजी विश्वविद्यालयों को बंद करने का निर्णय 

बता दें, राज्य सरकार ने 1 मार्च से प्रदेश के सभी सरकारी व निजी विश्वविद्यालयों और कॉलेज को अगले आदेश तक बंद करने के निर्देश दिए थे। लेकिन समीक्षा बैठक के पश्चात केवल ऑनलाइन कक्षा की ही अनुमति दी गई।

 

Source link