Tech & Travel

Follow for more updates

Story Of Corona Warriors Of The Country – संकट के सिपाही : मदद को बढ़े हाथ, कोई बांट रहा ऑक्सीजन सिलिंडर, तो कोई कर रहा काउंसलिंग

अमर उजाला नेटवर्क, नई दिल्ली
Published by: दुष्यंत शर्मा
Updated Mon, 03 May 2021 06:36 AM IST

सार

कोरोना का कहर जारी है और इसी के साथ जारी है कोरोना योद्धाओं द्वारा मरीजों और संकट से घिरे लोगों की सेवा का सिलसिला। 

प्रमिला मैसी और रोहित शर्मा
– फोटो : amar ujala

ख़बर सुनें

कोरोना का कहर जारी है और इसी के साथ जारी है कोरोना योद्धाओं द्वारा मरीजों और संकट से घिरे लोगों की सेवा का सिलसिला। हर व्यक्ति अपनी ओर से अलग तरीके से मदद कर रहा है और लोगों के लिए प्रेरणा का सबब बना हुआ है। आज की कड़ी में कुछ और कोरोना योद्धाओं की बात…

प्रमिला मैसी, बरेली- छोटे बच्चों को पति की जिम्मे छोड़कर अनजान दुश्मन से लड़ना कबूल किया
जिला अस्पताल की ही नर्सिंग ऑफिसर प्रमिला मैसी भी उन लोगों में शामिल थीं जिन्होंने भय की लहर के बीच एक अनजान दुश्मन के साथ लड़ाई में जान की बाजी लगाना कबूल किया था। प्रमिला बताती हैं कि कोरोना वार्ड में पहली बार जाने के बाद दो दिन तक वह सो ही नहीं पाई थीं। एक-दो दिन हर वक्त कोरोना से संक्रमित हो जाने का डर दिमाग पर हावी रहा लेकिन फिर उन्होंने महसूस किया कि ऐसी स्थिति में वह न मरीजों का इलाज कर पाएंगी और न उनमें सकारात्मकता पैदा कर पाएंगी। 

इसके बाद भरसक कोशिश कर खुद पर काबू पाया और फिर मरीजों की काउंसिलिंग शुरू की। कोरोना वार्ड में मौजूद मरीज पहले तैनात स्टाफ के व्यवहार से दुखी और नाराज थे। उन्होंने उन्हें अच्छे इलाज और जल्द स्वस्थ होने का भरोसा दिलाया। प्रार्थना करना भी सिखाया ताकि ईश्वर पर उनका भरोसा बना रहे। इलाज चलता रहा। इस दौरान वह परिवार से दूर रहीं। बच्चे छोटे थे लेकिन पति ने भी भरपूर सहयोग दिया। दो साल से प्रमिला मरीजों की सेवा में लगी हुई हैं। 

रोहित शर्मा, हिमाचल प्रदेश- अधिवक्ता रोहित ने दिए 26 ऑक्सीजन सिलिंडर
कोरोना के खिलाफ जंग में अब कई समाजसेवी प्रशासन का सहयोग करने के लिए आगे आ रहे हैं। प्रदेश बार काउंसिल के प्रतिनिधि अधिवक्ता रोहित शर्मा ने शनिवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी हमीरपुर के कार्यालय में 26 ऑक्सीजन सिलिंडर उपलब्ध करवाए। 

उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के समय में आमजन की सुरक्षा के लिए समय रहते पुख्ता इंतजाम करने होंगे। यह समय सामाजिक जिम्मेदारी को निभाने का है। आज सबको मिलकर मदद करनी होगी। उन्होंने कहा कि 27 अप्रैल को वह जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. संजय जगोता से मिले व विस्तृत चर्चा करने के बाद ऑक्सीजन सिलिंडर को गगरेट ऑक्सीजन प्लांट से भरवाकर शनिवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में जमा करवाया गया।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार को प्राथमिकता के आधार पर ऑक्सीजन की सुचारु रूप से आपूर्ति करवानी चाहिए। जिला व प्रदेश में कोविड 19 संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। लोगों को कोरोना से बचाव के लिए नियमों का पालन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि शीघ्र की जिलाधीश से मिलकर आग्रह करेंगे कि निजी अस्पतालों में भी कोविड वार्ड बनाए जाएं व सामाजिक कल्याण में भागीदारी सुनिश्चित की जाए। 

 बता दें कि भोरंज का हैप्पी क्लब लंबे समय से कोरोना संक्रमित मृतकों का अंतिम संस्कार कर रहा है। इसी कड़ी में अब अधिवक्ता रोहित शर्मा समेत अन्य भी समाजसेवा के लिए आगे आए हैं।

विस्तार

कोरोना का कहर जारी है और इसी के साथ जारी है कोरोना योद्धाओं द्वारा मरीजों और संकट से घिरे लोगों की सेवा का सिलसिला। हर व्यक्ति अपनी ओर से अलग तरीके से मदद कर रहा है और लोगों के लिए प्रेरणा का सबब बना हुआ है। आज की कड़ी में कुछ और कोरोना योद्धाओं की बात…

प्रमिला मैसी, बरेली- छोटे बच्चों को पति की जिम्मे छोड़कर अनजान दुश्मन से लड़ना कबूल किया

जिला अस्पताल की ही नर्सिंग ऑफिसर प्रमिला मैसी भी उन लोगों में शामिल थीं जिन्होंने भय की लहर के बीच एक अनजान दुश्मन के साथ लड़ाई में जान की बाजी लगाना कबूल किया था। प्रमिला बताती हैं कि कोरोना वार्ड में पहली बार जाने के बाद दो दिन तक वह सो ही नहीं पाई थीं। एक-दो दिन हर वक्त कोरोना से संक्रमित हो जाने का डर दिमाग पर हावी रहा लेकिन फिर उन्होंने महसूस किया कि ऐसी स्थिति में वह न मरीजों का इलाज कर पाएंगी और न उनमें सकारात्मकता पैदा कर पाएंगी। 

इसके बाद भरसक कोशिश कर खुद पर काबू पाया और फिर मरीजों की काउंसिलिंग शुरू की। कोरोना वार्ड में मौजूद मरीज पहले तैनात स्टाफ के व्यवहार से दुखी और नाराज थे। उन्होंने उन्हें अच्छे इलाज और जल्द स्वस्थ होने का भरोसा दिलाया। प्रार्थना करना भी सिखाया ताकि ईश्वर पर उनका भरोसा बना रहे। इलाज चलता रहा। इस दौरान वह परिवार से दूर रहीं। बच्चे छोटे थे लेकिन पति ने भी भरपूर सहयोग दिया। दो साल से प्रमिला मरीजों की सेवा में लगी हुई हैं। 

रोहित शर्मा, हिमाचल प्रदेश- अधिवक्ता रोहित ने दिए 26 ऑक्सीजन सिलिंडर

कोरोना के खिलाफ जंग में अब कई समाजसेवी प्रशासन का सहयोग करने के लिए आगे आ रहे हैं। प्रदेश बार काउंसिल के प्रतिनिधि अधिवक्ता रोहित शर्मा ने शनिवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी हमीरपुर के कार्यालय में 26 ऑक्सीजन सिलिंडर उपलब्ध करवाए। 

उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के समय में आमजन की सुरक्षा के लिए समय रहते पुख्ता इंतजाम करने होंगे। यह समय सामाजिक जिम्मेदारी को निभाने का है। आज सबको मिलकर मदद करनी होगी। उन्होंने कहा कि 27 अप्रैल को वह जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. संजय जगोता से मिले व विस्तृत चर्चा करने के बाद ऑक्सीजन सिलिंडर को गगरेट ऑक्सीजन प्लांट से भरवाकर शनिवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में जमा करवाया गया।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार को प्राथमिकता के आधार पर ऑक्सीजन की सुचारु रूप से आपूर्ति करवानी चाहिए। जिला व प्रदेश में कोविड 19 संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। लोगों को कोरोना से बचाव के लिए नियमों का पालन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि शीघ्र की जिलाधीश से मिलकर आग्रह करेंगे कि निजी अस्पतालों में भी कोविड वार्ड बनाए जाएं व सामाजिक कल्याण में भागीदारी सुनिश्चित की जाए। 

 बता दें कि भोरंज का हैप्पी क्लब लंबे समय से कोरोना संक्रमित मृतकों का अंतिम संस्कार कर रहा है। इसी कड़ी में अब अधिवक्ता रोहित शर्मा समेत अन्य भी समाजसेवा के लिए आगे आए हैं।

Source link