Tech & Travel

Follow for more updates

Rajasthan: Preparations For The Entire Nine-day Lockdown From Friday, Wedding Ceremonies Will Also Be Completely Banned – राजस्थान: शुक्रवार से नौ दिन के संपूर्ण लॉकडाउन की तैयारी, शादियों पर भी पूरी तरह रोक लगेगी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जयपुर
Published by: सुरेंद्र जोशी
Updated Thu, 06 May 2021 03:57 PM IST

सार

मंत्रियों की समिति करेगी लॉकडाउन का अंतिम फैसला, गांवों में संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए बड़ा कदम जल्द उठाया जा सकता है। 
 

ख़बर सुनें

राजस्थान में कोरोना की चेन तोड़ने के लिए सात मई से 16 मई तक संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जा सकता है। इस दौरान जरूरी सेवाएं छोड़कर बाकी सब बंद रहेगा। शादी-ब्याह पर भी पूरी तरह रोक लगेगी। लॉकडाउन के बारे में पांच सदस्यीय मंत्रियों की समिति अंतिम फैसला लेगी। गांवाें में तेजी से फैल रहे काेराेना की चेन तोड़ने के लिए गहलोत सरकार यह कदम उठाने  जा रही है। इसे महामारी रेड अलर्ट-जन अनुशासन पखवाड़ा नाम दिया जाएगा। इस दौरान आवागमन कम से कम किया जाएगा। 

मंत्रियों की कमेटी गुरुवार शाम तक अपनी रिपोर्ट देगी। कमेटी की सिफारिशों को तत्काल लागू कर दिया जाएगा। इसमें राज्य के यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल, जलदाय मंत्री बीडी कल्ला, चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा, शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा और चिकित्सा राज्यमंत्री सुभाष गर्ग शामिल हैं।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में बुधवार को हुई कैबिनेट में यह अहम कदम उठाया गया। कैबिनेट की बैठक में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को भी ध्यान में रखते हुए जरूरी संसाधन जुटाने पर भी विचार किया गया।

9 जिलों में 61.5% रोगी और 70% मौतें
राजस्थान के 9 जिलों- जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, कोटा, बीकानेर, अलवर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, सीकर में 61.5% मरीज और 70% मौतें हुई हैं। अगर सरकार इन नौ जिलों में पाबंदियां और सख्त कर दे तो महामारी से आधी जंग जीती जा सकती है। 

नौ जिलों में ही नए पाॅजिटिव 16,815 के 61.5% यानी 10341 रोगी मिले हैं। इन्हीं जिलों में 73% मौतें हो रही हैं। बुधवार को प्रदेश में कुल 155 मौतें हुईं। इन नौ जिलों में 114 मौतें हुईं। जयपुर में 43, जोधपुर में 20, उदयपुर में 19, बीकानेर में 8, अलवर में 7, कोटा में 6, डूंगरपुर में 5, सीकर और श्रीगंगानगर में 3-3 की मौत हुई। 

विस्तार

राजस्थान में कोरोना की चेन तोड़ने के लिए सात मई से 16 मई तक संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जा सकता है। इस दौरान जरूरी सेवाएं छोड़कर बाकी सब बंद रहेगा। शादी-ब्याह पर भी पूरी तरह रोक लगेगी। लॉकडाउन के बारे में पांच सदस्यीय मंत्रियों की समिति अंतिम फैसला लेगी। गांवाें में तेजी से फैल रहे काेराेना की चेन तोड़ने के लिए गहलोत सरकार यह कदम उठाने  जा रही है। इसे महामारी रेड अलर्ट-जन अनुशासन पखवाड़ा नाम दिया जाएगा। इस दौरान आवागमन कम से कम किया जाएगा। 

मंत्रियों की कमेटी गुरुवार शाम तक अपनी रिपोर्ट देगी। कमेटी की सिफारिशों को तत्काल लागू कर दिया जाएगा। इसमें राज्य के यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल, जलदाय मंत्री बीडी कल्ला, चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा, शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा और चिकित्सा राज्यमंत्री सुभाष गर्ग शामिल हैं।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में बुधवार को हुई कैबिनेट में यह अहम कदम उठाया गया। कैबिनेट की बैठक में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को भी ध्यान में रखते हुए जरूरी संसाधन जुटाने पर भी विचार किया गया।

9 जिलों में 61.5% रोगी और 70% मौतें

राजस्थान के 9 जिलों- जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, कोटा, बीकानेर, अलवर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, सीकर में 61.5% मरीज और 70% मौतें हुई हैं। अगर सरकार इन नौ जिलों में पाबंदियां और सख्त कर दे तो महामारी से आधी जंग जीती जा सकती है। 

नौ जिलों में ही नए पाॅजिटिव 16,815 के 61.5% यानी 10341 रोगी मिले हैं। इन्हीं जिलों में 73% मौतें हो रही हैं। बुधवार को प्रदेश में कुल 155 मौतें हुईं। इन नौ जिलों में 114 मौतें हुईं। जयपुर में 43, जोधपुर में 20, उदयपुर में 19, बीकानेर में 8, अलवर में 7, कोटा में 6, डूंगरपुर में 5, सीकर और श्रीगंगानगर में 3-3 की मौत हुई। 

Source link