Tech & Travel

Follow for more updates

Raiway Deloyed Covid Coaches At 17 Stations Of Seven States – #ladengecoronase: रेलवे ने सात राज्यों के 17 स्टेशनों पर तैनात किए हैं कोविड डिब्बे

सार

भारतीय रेलवे ने शनिवार को बताया कि उसने देश के सात राज्यों के 17 रेलवे स्टेशनों पर कोरोना मरीजों के आइसोलेशन के लिए कोविड डिब्बे तैनात किए हैं। इसके साथ ही रेलवे ने बताया कि उसने 19 अप्रैल से विभिन्न राज्यों में 220 टैंकरों के माध्यम से करीब 3400 टन तरल चिकित्सकीय ऑक्सीजन पहुंचाया है।

ख़बर सुनें

भारतीय रेलवे ने शनिवार को कहा कि कोविड-19 के सामान्य मरीजों के उपचार के वास्ते उसके पृथक-वास डिब्बों को देश के सात राज्यों के 17 स्टेशनों पर तैनात किया गया है। उसने कहा कि फिलहाल विभिन्न राज्यों को 298 डिब्बे सौंपे गए हैं और उनमें 4700 से अधिक बिस्तर हैं। उसने कहा कि महाराष्ट्र में कुल 60 डिब्बे तैनात किए गए हैं।

रेलवे ने यह भी कहा कि उसने 11 कोविड केयर डिब्बे राज्य के इनलैंड कंटेनर डिपो में तैनात किए हैं और उन्हें नागपुर नगर निगम को दिए हैं। वहां नौ मरीज भर्ती किए गए और पृथक वास के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई। फिलहाल पालघर में 24 डिब्बे प्रदान किए गए हैं और उन्हें उपयोग मे लाया जा रहा है।

उसने बताया कि मध्यप्रदेश में 42 ऐसे डिब्बे तैनात किए गए हैं। पश्चिम रेलवे के रतलाम संभाग ने इंदौर के पास तिही स्टेशन पर 22 डिब्बे तैनात किए हैं जिनमें 320 बिस्तर हैं। वहां 21 मरीज भर्ती किए गए और सात को अब तक छुट्टी दी गई है। भोपाल में 20 ऐसे डिब्बे तैनात किए गए हैं जिनमें 29 मरीज भर्ती किए गए और 11 को बाद में छुट्टी दे दी गई।

रेलवे ने बताया कि उसने असम के गुवाहाटी में 21 और सिलचर के समीप बदरपुर में 20 ऐसे डिब्बे तैनात किए हैं। दिल्ली में उसने 75 ऐसे डिब्बे प्रदान किये जिनमें 1200 बेड हैं।

रेलवे ने शनिवार को कहा कि उसने 19 अप्रैल से विभिन्न राज्यों में 220 टैंकरों के माध्यम से करीब 3400 टन तरल चिकित्सकीय ऑक्सीजन पहुंचाया है। उसने कहा कि अबतक 54 ऑक्सीजन ट्रेनों ने अपना सफर तय किया है। उसने बताया कि अबतक उसने दिल्ली में 1427 टन, महाराष्ट्र में 230 टन, उत्तर प्रदेश में 968 टन, मध्यप्रदेश में 249 टन, तेलंगाना में 123 टन और राजस्थान में 40 टन तरल चिकित्सकीय ऑक्सीजन पहुंचाया। फिलहाल 26 टैंकर 417 टन तरल चिकित्सकीय ऑक्सीजन लेकर दिल्ली, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और हरियाणा जा रहे हैं। रेलवे ने कहा, ‘नई ऑक्सीजन एक्सप्रेस (ट्रेनें) चलाना बड़ा ही गतिशील काम है और हर वक्त आंकड़ों का अद्यतन किया जाता रहता है। रात में अधिक ऑक्सीजन वाली एक्सप्रेस चलने की संभावना है।’ रेलवे ने पिछले महीने तरल चिकित्सकीय ऑक्सीजन की ढुलाई प्रारंभ की थी जब देश में घातक दूसरी कोविड-19 लहर के चलते जीवन रक्षक गैस की कमी होने लगी थी।

विस्तार

भारतीय रेलवे ने शनिवार को कहा कि कोविड-19 के सामान्य मरीजों के उपचार के वास्ते उसके पृथक-वास डिब्बों को देश के सात राज्यों के 17 स्टेशनों पर तैनात किया गया है। उसने कहा कि फिलहाल विभिन्न राज्यों को 298 डिब्बे सौंपे गए हैं और उनमें 4700 से अधिक बिस्तर हैं। उसने कहा कि महाराष्ट्र में कुल 60 डिब्बे तैनात किए गए हैं।

रेलवे ने यह भी कहा कि उसने 11 कोविड केयर डिब्बे राज्य के इनलैंड कंटेनर डिपो में तैनात किए हैं और उन्हें नागपुर नगर निगम को दिए हैं। वहां नौ मरीज भर्ती किए गए और पृथक वास के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई। फिलहाल पालघर में 24 डिब्बे प्रदान किए गए हैं और उन्हें उपयोग मे लाया जा रहा है।

उसने बताया कि मध्यप्रदेश में 42 ऐसे डिब्बे तैनात किए गए हैं। पश्चिम रेलवे के रतलाम संभाग ने इंदौर के पास तिही स्टेशन पर 22 डिब्बे तैनात किए हैं जिनमें 320 बिस्तर हैं। वहां 21 मरीज भर्ती किए गए और सात को अब तक छुट्टी दी गई है। भोपाल में 20 ऐसे डिब्बे तैनात किए गए हैं जिनमें 29 मरीज भर्ती किए गए और 11 को बाद में छुट्टी दे दी गई।

रेलवे ने बताया कि उसने असम के गुवाहाटी में 21 और सिलचर के समीप बदरपुर में 20 ऐसे डिब्बे तैनात किए हैं। दिल्ली में उसने 75 ऐसे डिब्बे प्रदान किये जिनमें 1200 बेड हैं।


आगे पढ़ें

रेलवे ने पहुंचाया 3400 टन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन

Source link