Tech & Travel

Follow for more updates

Punjab Cm Amarinder Singh Give Order To Police To Take Strict Action Against Who Violate Covid-19 Norms – पंजाब: लॉकडाउन के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन आज, अमरिंदर सिंह ने दिया सख्ती से निपटने का आदेश

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़
Published by: ajay kumar
Updated Sat, 08 May 2021 02:27 AM IST

सार

शुक्रवार को कोविड की उच्चस्तरीय वर्चुअल मीटिंग की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री ने डिप्टी कमिश्नरों को स्थानीय विधायकों और अन्य संबंधित पक्षों को भरोसे में लेने के बाद गैरजरूरी दुकानों और प्राइवेट दफ्तरों को रोटेशन के आधार पर खोलने के बारे कोई भी फैसला लेने के लिए अधिकृत किया।

कैप्टन अमरिंदर सिंह। (फाइल फोटो)
– फोटो : @capt_amarinder

ख़बर सुनें

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य में बढ़ रहे कोविड के मामलों के मद्देनजर शुक्रवार को सभी डिप्टी कमिश्नरों को अपने-अपने जिलों में जरूरत के अनुसार कोई भी नया और सख्त प्रतिबंध लगाने के लिए अधिकृत कर दिया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने स्पष्ट कर दिया कि दुकानों और निजी दफ्तरों को रोटेशन (बारी-बारी) के आधार खोलने के फैसले को छोड़कर बाकी मौजूदा प्रतिबंधों में किसी तरह की ढील बरतने की इजाजत नहीं दी जाएगी। 

उन्होंने डीजीपी को राज्य में साप्ताहिक लॉकडाउन को सख्ती से लागू करवाने और शनिवार को किसान संघर्ष मोर्चे के लॉकडाउन विरोधी प्रदर्शन को देखते हुए किसी भी तरह के उल्लंघन को सख्ती से निपटने के आदेश दिए। कैप्टन ने कहा कि 32 किसान यूनियनों का किसान मोर्चा, राज्य सरकार पर शर्तें नहीं थोप सकता। उन्होंने प्रतिबंधों के उल्लंघन की सूरत में सख्त कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि अगर प्रतिबंधों का उल्लंघन करके कोई भी दुकान खोली गई तो दुकान मालिक पर भी कानूनी कार्रवाई होगी।

शुक्रवार को कोविड की उच्चस्तरीय वर्चुअल मीटिंग की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री ने डिप्टी कमिश्नरों को स्थानीय विधायकों और अन्य संबंधित पक्षों को भरोसे में लेने के बाद गैरजरूरी दुकानों और प्राइवेट दफ्तरों को रोटेशन के आधार पर खोलने के बारे कोई भी फैसला लेने के लिए अधिकृत किया। हालांकि, राज्य की सड़कों पर वस्तुएं और लोगों के बिना किसी दिक्कत के आने-जाने का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि डिप्टी कमिश्नर अंतरराज्यीय यातायात के बारे में कोई बंदिश नहीं लगा सकते।

उन्होंने कहा कि अगर कोई नया प्रतिबंध या फिर रोटेशन के आधार पर दुकानें खोलनी हैं, तो इस पर अमल सोमवार से होगा। डीजीपी ने बताया कि अलग-अलग जिले चरणबद्ध दुकानें खोलने के अलग-अलग मॉडल अपनाना चाहते हैं तो इसके जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि स्थानीय स्तर पर फैसले डिप्टी कमिश्नरों पर छोड़ दिया गया है। 

राज्य में संक्रमण दर 13.5 फीसदी तक पहुंची
स्वास्थ्य सचिव हुसन लाल ने मीटिंग के दौरान बताया कि पंजाब में करीब 9000 केस आने से गुरुवार को राज्य में संक्रमण दर 13.5 प्रतिशत पर पहुंच गई है। स्वास्थ्य विभाग ने एल -3 बेड का सामर्थ्य बढ़ाने के अलावा रेमडेसिविर 100 एमजी और अन्य जरूरी दवाओं की खरीद बढ़ा दी है। विभाग की तरफ से आज 60,000 ऑक्सीमीटर की सप्लाई की उम्मीद की जा रही है और इसको फतेह किटों के अंतर्गत कोविड मरीजों को वितरित दिया जाएगा।

विस्तार

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य में बढ़ रहे कोविड के मामलों के मद्देनजर शुक्रवार को सभी डिप्टी कमिश्नरों को अपने-अपने जिलों में जरूरत के अनुसार कोई भी नया और सख्त प्रतिबंध लगाने के लिए अधिकृत कर दिया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने स्पष्ट कर दिया कि दुकानों और निजी दफ्तरों को रोटेशन (बारी-बारी) के आधार खोलने के फैसले को छोड़कर बाकी मौजूदा प्रतिबंधों में किसी तरह की ढील बरतने की इजाजत नहीं दी जाएगी। 

उन्होंने डीजीपी को राज्य में साप्ताहिक लॉकडाउन को सख्ती से लागू करवाने और शनिवार को किसान संघर्ष मोर्चे के लॉकडाउन विरोधी प्रदर्शन को देखते हुए किसी भी तरह के उल्लंघन को सख्ती से निपटने के आदेश दिए। कैप्टन ने कहा कि 32 किसान यूनियनों का किसान मोर्चा, राज्य सरकार पर शर्तें नहीं थोप सकता। उन्होंने प्रतिबंधों के उल्लंघन की सूरत में सख्त कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि अगर प्रतिबंधों का उल्लंघन करके कोई भी दुकान खोली गई तो दुकान मालिक पर भी कानूनी कार्रवाई होगी।

शुक्रवार को कोविड की उच्चस्तरीय वर्चुअल मीटिंग की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री ने डिप्टी कमिश्नरों को स्थानीय विधायकों और अन्य संबंधित पक्षों को भरोसे में लेने के बाद गैरजरूरी दुकानों और प्राइवेट दफ्तरों को रोटेशन के आधार पर खोलने के बारे कोई भी फैसला लेने के लिए अधिकृत किया। हालांकि, राज्य की सड़कों पर वस्तुएं और लोगों के बिना किसी दिक्कत के आने-जाने का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि डिप्टी कमिश्नर अंतरराज्यीय यातायात के बारे में कोई बंदिश नहीं लगा सकते।

उन्होंने कहा कि अगर कोई नया प्रतिबंध या फिर रोटेशन के आधार पर दुकानें खोलनी हैं, तो इस पर अमल सोमवार से होगा। डीजीपी ने बताया कि अलग-अलग जिले चरणबद्ध दुकानें खोलने के अलग-अलग मॉडल अपनाना चाहते हैं तो इसके जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि स्थानीय स्तर पर फैसले डिप्टी कमिश्नरों पर छोड़ दिया गया है। 

राज्य में संक्रमण दर 13.5 फीसदी तक पहुंची

स्वास्थ्य सचिव हुसन लाल ने मीटिंग के दौरान बताया कि पंजाब में करीब 9000 केस आने से गुरुवार को राज्य में संक्रमण दर 13.5 प्रतिशत पर पहुंच गई है। स्वास्थ्य विभाग ने एल -3 बेड का सामर्थ्य बढ़ाने के अलावा रेमडेसिविर 100 एमजी और अन्य जरूरी दवाओं की खरीद बढ़ा दी है। विभाग की तरफ से आज 60,000 ऑक्सीमीटर की सप्लाई की उम्मीद की जा रही है और इसको फतेह किटों के अंतर्गत कोविड मरीजों को वितरित दिया जाएगा।

Source link