Tech & Travel

Follow for more updates

One Infected Person Is Dying In The Delhi In Every 4 Minutes – दिल्ली का हाल : राजधानी में हर 4 मिनट में हो रही है एक कोरोना संक्रमित की मौत

ख़बर सुनें

राजधानी में कोरोना का संक्रमण कितना भयानक रूप ले चुका है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछले कुछ दिनों से दिल्ली में प्रत्येक 4 मिनट में एक कोरोना संक्रमित की मौत हो रही है। लगातार बढ़ रहे मौत के आंकड़ों के साथ कुल मृत्युदर में भी इजाफा हो रहा है। आलम यह है कि देश के प्रमुख शहरों में कोरोना से सबसे ज्यादा मौतें दिल्ली में ही हो रही है। 

दिल्ली में पिछले 4 दिनों में कुल 1527 लोगों की मौत हुई है। पिछले 24 घण्टे में ही 395 लोग दम तोड़ चुके है। हर एक घण्टे में 17 लोग जान गवां रहे है। इस हिसाब से देखे तो प्रति चार मिनट में एक मौत हो रही है। मृतकों की लगातार बढ़ती संख्या के चलते कुल मौत का आंकड़ा भी 15,772 पहुँच गया है। देश के प्रमुख चार शहरों मुंबई, चेन्नई कोलकाता और दिल्ली में सबसे ज्यादा मौते दिल्ली में ही हुई है।   इस समय राजधानी में 4 हजार से ज्यादा मरीज आईसीयू में भर्ती है। इन सभी रोगियों की हालत काफी गंभीर है ऐसे में आने वाले समय में मौत के आंकड़ों में गिरावट होती नहीं दिखाई दे रही है। 

मौत के बढ़ते मामलों पर अपोलो अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ प्रदीप कुमार सिंघल का कहना है कि दिल्ली में पिछले 1 महीने से रिकॉर्ड स्तर पर संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। अधिक संक्रमित मिलने की वजह से मौत का आंकड़ा भी बढ़ रहा है। 

उन्होंने बताया कि कोरोना का डबल म्युटेंट और नया स्ट्रेन काफी घातक साबित हो रहा है। इस समय संक्रमित होने के बाद मरीज के फेफड़े तीन से चार दिन में ही खराब हो रहे हैं, और उनको अस्पताल में भर्ती करना पड़ रहा है। इसके चलते कई लोगों की मौत हो रही है। डॉक्टर के मुताबिक, इस समय जरूरी है कि गंभीर रोगियों को जल्द से जल्द इलाज मिले। साथ ही कुछ और सख्ती भी बरतने की जरूरत है, जिससे संक्रमण के दैनिक मामलों पर लगाम लगाई जा सके।

पिछली लहर के मुकाबले करीब 4 गुना ज्यादा मौत
राजधानी में पिछले साल नवंबर में आई कोरोना की तीसरी लहर के मुकाबले इस समय करीब चार गुना लोगों की मौत रोजाना हो रही है । तब नवंबर में प्रतिदिन औसतन 100 लोग जान गवा रहे थे । वहीं, इस समय यह आंकड़ा 380 का है। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि इस समय दिल्ली में अन्य राज्यों के काफी मरीज गंभीर हालत में भर्ती हो रहे हैं। उन लोगों की भी मौतें हो रही। इससे मौतों के आंकड़ों में इजाफा हो रहा है। 

पिछले 10 दिन के मौत के आंकड़े
तारीख – मौत
29-      395
28-      368
27        381
26        380
25        350
24        357
23        348
22        306
21       249
20      277

नोट- आंकड़े स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक हैं और 29 अप्रैल तक के हैं

 

कोरोना महामारी से हर तरफ हाहाकार है। फरीदाबाद की फ्रंटियर कॉलोनी में रहने वाले एक परिवार के चारों सदस्यों की कोरोना के कारण मौत हो गई। इलाके के लोगों ने उनके इलाज के लिए पैसे भी जमा किये लेकिन वे किसी को बचा न सके। कॉलोनी की आरडब्ल्यूए के प्रधान अजय अरोड़ा ने बताया कि परिवार के चार सदस्यों की मौत महज 10 दिन के अंदर हो गई है। 

विस्तार

राजधानी में कोरोना का संक्रमण कितना भयानक रूप ले चुका है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछले कुछ दिनों से दिल्ली में प्रत्येक 4 मिनट में एक कोरोना संक्रमित की मौत हो रही है। लगातार बढ़ रहे मौत के आंकड़ों के साथ कुल मृत्युदर में भी इजाफा हो रहा है। आलम यह है कि देश के प्रमुख शहरों में कोरोना से सबसे ज्यादा मौतें दिल्ली में ही हो रही है। 

दिल्ली में पिछले 4 दिनों में कुल 1527 लोगों की मौत हुई है। पिछले 24 घण्टे में ही 395 लोग दम तोड़ चुके है। हर एक घण्टे में 17 लोग जान गवां रहे है। इस हिसाब से देखे तो प्रति चार मिनट में एक मौत हो रही है। मृतकों की लगातार बढ़ती संख्या के चलते कुल मौत का आंकड़ा भी 15,772 पहुँच गया है। देश के प्रमुख चार शहरों मुंबई, चेन्नई कोलकाता और दिल्ली में सबसे ज्यादा मौते दिल्ली में ही हुई है।   इस समय राजधानी में 4 हजार से ज्यादा मरीज आईसीयू में भर्ती है। इन सभी रोगियों की हालत काफी गंभीर है ऐसे में आने वाले समय में मौत के आंकड़ों में गिरावट होती नहीं दिखाई दे रही है। 

मौत के बढ़ते मामलों पर अपोलो अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ प्रदीप कुमार सिंघल का कहना है कि दिल्ली में पिछले 1 महीने से रिकॉर्ड स्तर पर संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। अधिक संक्रमित मिलने की वजह से मौत का आंकड़ा भी बढ़ रहा है। 

उन्होंने बताया कि कोरोना का डबल म्युटेंट और नया स्ट्रेन काफी घातक साबित हो रहा है। इस समय संक्रमित होने के बाद मरीज के फेफड़े तीन से चार दिन में ही खराब हो रहे हैं, और उनको अस्पताल में भर्ती करना पड़ रहा है। इसके चलते कई लोगों की मौत हो रही है। डॉक्टर के मुताबिक, इस समय जरूरी है कि गंभीर रोगियों को जल्द से जल्द इलाज मिले। साथ ही कुछ और सख्ती भी बरतने की जरूरत है, जिससे संक्रमण के दैनिक मामलों पर लगाम लगाई जा सके।

पिछली लहर के मुकाबले करीब 4 गुना ज्यादा मौत

राजधानी में पिछले साल नवंबर में आई कोरोना की तीसरी लहर के मुकाबले इस समय करीब चार गुना लोगों की मौत रोजाना हो रही है । तब नवंबर में प्रतिदिन औसतन 100 लोग जान गवा रहे थे । वहीं, इस समय यह आंकड़ा 380 का है। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि इस समय दिल्ली में अन्य राज्यों के काफी मरीज गंभीर हालत में भर्ती हो रहे हैं। उन लोगों की भी मौतें हो रही। इससे मौतों के आंकड़ों में इजाफा हो रहा है। 

पिछले 10 दिन के मौत के आंकड़े

तारीख – मौत

29-      395

28-      368

27        381

26        380

25        350

24        357

23        348

22        306

21       249

20      277

नोट- आंकड़े स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक हैं और 29 अप्रैल तक के हैं

 


आगे पढ़ें

फरीदाबाद में एक परिवार के चारों सदस्यों की मौत

Source link