Tech & Travel

Follow for more updates

Number Of Bodies Are Big But Relatives Are Less In Baikunthdham In Lucknow. – ये लखनऊ का बैकुंठधाम है… यहां चिताएं ज्यादा हैं और अंत्येष्टि में शामिल होने वाले कम

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Published by: ishwar ashish Updated Sat, 01 May 2021 03:44 PM IST

एक समय था जब अंतिम संस्कार में परिजन, रिश्तेदारों के साथ ही मित्र या पड़ोसी, सब शामिल होते थे। पर कोरोना ने सबकुछ बदल दिया है। हमारे दुख दर्द को साझा करने के तरीके भी। यह तस्वीर है बैकुंठधाम की। यहां चिताएं ज्यादा हैं तो अंतिम संस्कार में शामिल होने वाले कम। कोरोना प्रोटोकॉल और खुद के बचाव के लिए लोग अब अंत्येष्टि में कम ही शामिल हो रहे हैं।

Source link