Tech & Travel

Follow for more updates

Nepali Climber Kami Rita Climbs Mount Everest For Record 25th Time – कामयाबी का शिखर : कामी रीता ने रिकॉर्ड 25वीं बार फतेह किया माउंट एवरेस्ट

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, काठमांडो
Published by: संजीव कुमार झा
Updated Sat, 08 May 2021 02:06 AM IST

सार

कामी रीता ने एवरेस्ट पर सबसे ज्यादा बार चढ़ाई करने का अपना ही रिकॉर्ड तोड़ा, जो उन्होंने दो साल पहले इस शिखर पर 24वीं बार चढ़ाई करके बनाया था।

ख़बर सुनें

नेपाली पर्वतारोही कामी रीता शेरपा ने शुक्रवार को माउंट एवरेस्ट की चोटी पर 25वीं बार चढ़ने में सफलता हासिल की। इसके साथ ही 51 वर्षीय रीता विश्व के सबसे ऊंचे शिखर पर 25 बार चढ़ने वाली दुनिया की पहली पर्वतारोही बन गए। कामी रीता ने एवरेस्ट पर सबसे ज्यादा बार चढ़ाई करने का अपना ही रिकॉर्ड तोड़ा, जो उन्होंने दो साल पहले इस शिखर पर 24वीं बार चढ़ाई करके बनाया था। दो साल पहले 24वीं बार चढ़ते समय कामी रीता ने सात दिन के अंदर दो बार माउंट एवरेस्ट पर चढ़कर एक और रिकॉर्ड कायम किया था।

खबरहब ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि काठमांडो स्थित सेवन समिट ट्रैक्स के अनुसार, माउंट एवरेस्ट पर  रास्ता तैयार कर ही टीम का नेतृत्व कर रहे कामी रीता शुक्रवार शाम को समुद्र तल से करीब 8,848.86 मीटर ऊंचे इस शिखर पर पहुंची। उनके इस रिकॉर्ड सफर में सोलुखुंबु के छह और कामी रीता समेत संखुवासभा के छह शेरपाओं की टीम साथ थी। कामी रीता ने पहली बार 1994 में माउंट एवरेस्ट पर फतेह हासिल की थी। रीता के बाद दुनिया की इस सबसे ऊंची चोटी पर अप्पा शेरपा और फुरबा तासी शेरपा ने 23-23 बार चढ़ाई की है।

विस्तार

नेपाली पर्वतारोही कामी रीता शेरपा ने शुक्रवार को माउंट एवरेस्ट की चोटी पर 25वीं बार चढ़ने में सफलता हासिल की। इसके साथ ही 51 वर्षीय रीता विश्व के सबसे ऊंचे शिखर पर 25 बार चढ़ने वाली दुनिया की पहली पर्वतारोही बन गए। कामी रीता ने एवरेस्ट पर सबसे ज्यादा बार चढ़ाई करने का अपना ही रिकॉर्ड तोड़ा, जो उन्होंने दो साल पहले इस शिखर पर 24वीं बार चढ़ाई करके बनाया था। दो साल पहले 24वीं बार चढ़ते समय कामी रीता ने सात दिन के अंदर दो बार माउंट एवरेस्ट पर चढ़कर एक और रिकॉर्ड कायम किया था।

खबरहब ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि काठमांडो स्थित सेवन समिट ट्रैक्स के अनुसार, माउंट एवरेस्ट पर  रास्ता तैयार कर ही टीम का नेतृत्व कर रहे कामी रीता शुक्रवार शाम को समुद्र तल से करीब 8,848.86 मीटर ऊंचे इस शिखर पर पहुंची। उनके इस रिकॉर्ड सफर में सोलुखुंबु के छह और कामी रीता समेत संखुवासभा के छह शेरपाओं की टीम साथ थी। कामी रीता ने पहली बार 1994 में माउंट एवरेस्ट पर फतेह हासिल की थी। रीता के बाद दुनिया की इस सबसे ऊंची चोटी पर अप्पा शेरपा और फुरबा तासी शेरपा ने 23-23 बार चढ़ाई की है।

Source link