Tech & Travel

Follow for more updates

Kashmiri Couple Delivering Home-cooked Food to Covid Patients Doorsteps | कश्मीर में कोरोना रोगियों तक मुफ्त में टिफिन पहुंचा रहा ये कपल, ताकी चलती रहे जिंदगी

श्रीनगर: जम्मू और कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश के श्रीनगर में एक युवा जोड़ा कोरोना रोगियों की सेवा में लगा है. ये युवा जोड़ा टिफिन आव, (टिफिन आया) संस्था को चलाता है और करोोना रोगियों तक खाना पहु़ंचाता है.

कोरोना रोगियों तक मदद पहुंचाने की कवायद

राइस अहमद और उनकी पत्नी ने श्रीनगर में एक साल पहले फूडहोम डिलीवरी सेवा शुरू की थी, लेकिन अब उन्होंने यह सेवा विशेष रूप से कोरोना पॉजिटिव रोगियों, डॉक्टरों और पैरा मेडिकल स्टाफ सहित अन्य फ्रंट लाइन के कर्मचारियों के लिए मुफ्त रखी है.

एक फोन कॉल ने बदली जिंदगी

राइस ने कहा कि उन्हें कुछ दिन पहले कश्मीर के बाहर से कॉल आया था, जिसमें एक व्यक्ति ने उनसे कश्मीर मेंअपने कोविड पॉज़िटिव परिवार के लिए भोजन उपलब्ध कराने का अनुरोध किया. राइस अहमद ने कहा, “हमने फ़ूड फॉर कश्मीर की सेवा शुरू किया और इसे सोशल वेबसाइटों के माध्यम से विज्ञापित किया, ताकी लोगों को इस सेवा के बारे में पता चलेगा.’ उन्होंने कहा कि हमने अस्पतालों में कोरोना पॉजिटिव रोगियों को घर पर कोरोना पॉजिटिव परिवारों को मुफ्त भोजन देते हैं. मौजूदा समय में करीब 100-200 लोगों तक टिफिन पहुंचाते हैं. राइस ने कहा कि हमने डॉक्टरों से सलाह ली और फूड हाईजेनिक बनाया, क्योंकि यह पौष्टिक भोजन ऐसे मरीजों के लिए अच्छा होता है. राइस का मानना ​​है यह जंग हम एक साथ जीतेंगे. वह कहते हैं कि हमें एक साथ लड़ना होगा और हर किसी को अपने-अपने तरीक़े से योगदान देना होगा.

ये भी पढ़ें: कोरोना से उबर चुके लोगों को नहीं मिल रहा इंश्योरेंस

10 लोगों का समूह काम में जुटा

यह राइस अहमद और उनकी पत्नी के नेतृत्व में 10 लोगों का एक समूह है, जो जरूरतमंदों को भोजन पहुंचाता है. टिफिन आव के मार्केटिंग निदेशक निदा रहमान ने कहा कि यह एक साथ मिलकर लड़ना है, हम हर किसी को अलग नहीं कर सकते. हमें इन मरीजों को अच्छा महसूस कराना है. उन्होंने कहा कि हम इस काम को बंद करना चाहते थे, लेकिन फिर हमने सोचा कि यह काम नहीं है बल्कि सेवा है अब हम और इसे आगे बढ़ाएंगे.

Source link