Tech & Travel

Follow for more updates

Haryana Cm Manohar Lal Announces Medical Assistance Of Rs 5,000 Per Bpl Patient Per Day – हरियाणा : गरीब कोरोना मरीजों को प्रतिदिन 5 हजार रुपये देगी सरकार, अस्पताल को भी मिलेगी प्रोत्साहन राशि

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़
Published by: ajay kumar
Updated Wed, 05 May 2021 09:33 PM IST

सार

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बुधवार को चंडीगढ़ में डिजिटल प्रेसवार्ता में इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा कि सरकार पर पहला हक गरीब आदमी का है। किसी जरूरतमंद व गरीब व्यक्ति की पैसों की कमी के कारण महामारी से जान नहीं जानी चाहिए।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल।
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

हरियाणा सरकार बीपीएल (गरीबी रेखा से नीचे) परिवारों के कोरोना मरीजों को वित्तीय सहायता देगी। निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन या आईसीयू बेड पर उपचाराधीन बीपीएल परिवारों के कोरोना मरीजों को प्रतिदिन प्रति मरीज 5,000 रुपये मिलेंगे। यह सहायता अधिकतम सात दिन के लिए 35,000 रुपये होगी।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बुधवार को चंडीगढ़ में डिजिटल प्रेसवार्ता में इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा कि सरकार पर पहला हक गरीब आदमी का है। किसी जरूरतमंद व गरीब व्यक्ति की पैसों की कमी के कारण महामारी से जान नहीं जानी चाहिए। इसके अलावा जो निजी अस्पताल हरियाणा के गरीब कोविड मरीजों को अधिक से अधिक दाखिला देंगे, उन्हें प्रतिदिन प्रति मरीज के हिसाब से 1,000 रुपये या अधिकतम 7,000 रुपये तक की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।

मनोहर लाल ने कहा कि राज्य के निजी अस्पतालों में उपचार करवाने वाले कोरोना मरीजों के लिए बेड व अन्य सुविधाओं के रेट तय किए गए हैं। इस समय 42 निजी अस्पताल कोविड मरीजों का उपचार कर रहे हैं। सरकार ने एनएबीएच व जेसीआई मान्यता प्राप्त अस्पतालों में आइसोलेशन बेड का 10,000 रुपये, बिना वेंटीलेटर के आईसीयू बेड का 15,000 रुपये व वेंटिलेटर युक्त आईसीयू बेड के 18,000 रुपये प्रतिदिन की दर से रेट तय किए हैं।

इसी प्रकार बिना एनएबीएच मान्यता प्राप्त अस्पतालों में आइसोलेशन बेड का 8,000 रुपये, बिना वेंटीलेटर के आईसीयू बेड का 13,000 रुपये तथा वेंटिलेटर युक्त आईसीयू बेड के 15,000 रुपये प्रतिदिन की दर से देने होंगे। 

विस्तार

हरियाणा सरकार बीपीएल (गरीबी रेखा से नीचे) परिवारों के कोरोना मरीजों को वित्तीय सहायता देगी। निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन या आईसीयू बेड पर उपचाराधीन बीपीएल परिवारों के कोरोना मरीजों को प्रतिदिन प्रति मरीज 5,000 रुपये मिलेंगे। यह सहायता अधिकतम सात दिन के लिए 35,000 रुपये होगी।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बुधवार को चंडीगढ़ में डिजिटल प्रेसवार्ता में इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा कि सरकार पर पहला हक गरीब आदमी का है। किसी जरूरतमंद व गरीब व्यक्ति की पैसों की कमी के कारण महामारी से जान नहीं जानी चाहिए। इसके अलावा जो निजी अस्पताल हरियाणा के गरीब कोविड मरीजों को अधिक से अधिक दाखिला देंगे, उन्हें प्रतिदिन प्रति मरीज के हिसाब से 1,000 रुपये या अधिकतम 7,000 रुपये तक की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।

मनोहर लाल ने कहा कि राज्य के निजी अस्पतालों में उपचार करवाने वाले कोरोना मरीजों के लिए बेड व अन्य सुविधाओं के रेट तय किए गए हैं। इस समय 42 निजी अस्पताल कोविड मरीजों का उपचार कर रहे हैं। सरकार ने एनएबीएच व जेसीआई मान्यता प्राप्त अस्पतालों में आइसोलेशन बेड का 10,000 रुपये, बिना वेंटीलेटर के आईसीयू बेड का 15,000 रुपये व वेंटिलेटर युक्त आईसीयू बेड के 18,000 रुपये प्रतिदिन की दर से रेट तय किए हैं।

इसी प्रकार बिना एनएबीएच मान्यता प्राप्त अस्पतालों में आइसोलेशन बेड का 8,000 रुपये, बिना वेंटीलेटर के आईसीयू बेड का 13,000 रुपये तथा वेंटिलेटर युक्त आईसीयू बेड के 15,000 रुपये प्रतिदिन की दर से देने होंगे। 

Source link