Tech & Travel

Follow for more updates

Delhi Cm Arvind Kejriwal Wife Sunita Kejriwal Admitted To Max Saket – दिल्ली: सीएम अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता मैक्स साकेत में भर्ती, कोरोना से हैं संक्रमित

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Published by: Vikas Kumar
Updated Fri, 30 Apr 2021 04:30 PM IST

सार

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पत्नी को साकेत स्थित मैक्स अस्पातल में भर्ती किया गया है। वह बीते कुछ दिन से कोरोना से संक्रमित हैं। 

sunita kejriwal

sunita kejriwal
– फोटो : amar ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें

विस्तार

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पत्नी को साकेत स्थित मैक्स अस्पातल में भर्ती किया गया है। बीते मंगलवार को उनकी कोरोना जांच हुई थी, जिसके बाद यह पुष्टि हुई थी कि वह संक्रमित हैं। रिपोर्ट आने के बाद से उन्होंने खुद को होम आइसोलेट कर लिया था। साथ ही केजरीवाल ने भी खुद को क्वारंटीन कर लिया था, लेकिन उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई थी। 

वहीं दूसरी तरफ आज ही यह खबर आई कि दिल्ली के उप-राज्यपाल अनिल बैजल भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं और उन्होंने फिलहाल खुद को होम क्वारंटीन कर लिया है। उन्होंने संक्रमित होने की जानकारी खुद ट्वीट कर दी है। उन्होंने बताया है कि उन्हें हल्के लक्षण हैं। मैंने खुद को आइसोलेट कर लिया है और जो लोग भी पिछले दिनों मेरे संपर्क आए थे उन सब का टेस्ट हो चुका है। मैं दिल्ली के कार्य और हालात अपने निवास से ही मॉनिटर करता रहूंगा।’

दिल्ली में हर पांचवां संक्रमित अस्पातल में भर्ती

राजधानी में संक्रमितों की संख्या के साथ अस्पतालों में भर्ती रोगियों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। आलम यह है कि इस समय हर पांचवां संक्रमित मरीज अस्पताल में उपचार करा रहा है। पिछले साल मार्च में कोरोना की शुरुआत के बाद ऐसा पहली बार है जब अस्पतालों में मरीज लगातार बढ़ रहे हैं। सरकार का मानना है कि संक्रमण की इस लहर में गंभीर मरीजों की संख्या ज्यादा है।

राजधानी में फिलहाल करीब एक लाख सक्रिय मरीज हैं। इनमें से 19,243 अस्पतालों में भर्ती हैं। लिहाजा, हर पांचवां संक्रमित अस्पताल में इलाज करा रहा है। इनमें से 15 हजार मरीज ऑक्सीजन स्पोर्ट पर और करीब चार हजार आईसीयू में हैं। पिछले करीब एक माह से अस्पतालों में रोगियों की संख्या लगातार बढ़ रही है। 29 मार्च को कुल 1468 मरीज अस्पतालों में थे, अब इनकी संख्या बढ़कर 19,243 हो गई है। इस हिसाब से देखें तो एक महीने में 17 हजार से ज्यादा रोगी भर्ती हुए हैं।

अपोलो अस्पताल के डॉक्टर प्रवीण कुमार का कहना है कि इस बार का वायरस तीन से चार दिनों में ही मरीज के फेफड़ों को प्रभावित कर रहा है। ऐसे में मरीजों में ऑक्सीजन की कमी हो रही है और उनकी गंभीर होती जा रही है। यही कारण है कि दिल्ली में अस्पताल भर रहे हैं। कोविड केयर केंद्र खाली हैं। उन्होंने कहा कि इस समय अगर हल्का भी बुखार और खांसी है तो खुद को संक्रमित मानकर आइसोलेट हो जाना चाहिए। 

 

Source link