Tech & Travel

Follow for more updates

Cremation Will Be Free In Cities In Uttar Pradesh. – यूपी: अब ‘अंतिम विदाई’ के लिए दर-दर नहीं भटकेंगे शव, निशुल्क संस्कार कराएगी योगी सरकार

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ
Published by: ishwar ashish
Updated Sat, 08 May 2021 12:42 PM IST

सार

यूपी के शहरी क्षेत्रों में कोरोना के कारण निधन होने पर शवों का निशुल्क अंतिम संस्कार किया जाएगा। इस संबंध में नगर विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने आदेश जारी कर दिए हैं।

ख़बर सुनें

यूपी के शहरी क्षेत्रों में कोरोना के कारण निधन होने पर शवों का निशुल्क अंतिम संस्कार किया जाएगा। इस संबंध में नगर विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने आदेश जारी कर दिए हैं।

जारी किए गए आदेश में कहा गया है कि उत्तर प्रदेश नगर निगम अधिनियम-1959 की धारा-114 (20) और नगर पालिका अधिनियम-1916 की धारा-7 (जी) में की गई व्यवस्था के अनुसार, नगरीय निकाय की सीमा के अंतर्गत मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए अंत्येष्टि स्थलों, कब्रिस्तानों और शवदाह गृहों की व्यवस्था करना नगरीय निकायों का मूल कर्तव्य है।

इस संबंध में जिलों के अधिकारियों को निर्देश जारी किया गया है।

बता दें कि प्रदेश में कोरोना के कारण हर रोज मौतें हो रही हैं। शहरों में तो शव जलाने के लिए कई जगह कतारें भी लगानी पड़ रही हैं। इस दौरान कई ऐसे मामले आए हैं जब परिजनों के पास अंतिम संस्कार के लिए धन नहीं बच। इसे ध्यान में रखते हुए ये आदेश जारी किया  गया है।

अगर शुक्रवार की ही बात करें तो प्रदेश में रिकॉर्ड 372 मौतें हुई हैं। इसके पहले पांच मई को 357 लोगों की मौत हुई थी। प्रदेश में बीते शुक्रवार को कोरोना संक्रमण के 28076 नए मामले सामने आए हैं। हालांकि, 33117 मरीज स्वस्थ भी हुए जिनकी संख्या नए मरीजों से करीब पांच हजार ज्यादा है।

वहीं, पूरे देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के कहर से हाहाकार मचा है। कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी से देश की स्वास्थ्य प्रणाली चरमरा गई। देश में जहां पिछले तीन दिन से हर रोज 4 लाख से अधिक नए कोरोना मरीज मिल रहे हैं। वहीं देश में पहली बार 24 घंटे में रिकॉर्ड 4,187 लोगों की कोरोना से मौत हो गई जोकि एक दिन में दर्ज की गई मौतों की अब तक की सबसे अधिक संख्या है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को को यह जानकारी दी।

विस्तार

यूपी के शहरी क्षेत्रों में कोरोना के कारण निधन होने पर शवों का निशुल्क अंतिम संस्कार किया जाएगा। इस संबंध में नगर विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने आदेश जारी कर दिए हैं।

जारी किए गए आदेश में कहा गया है कि उत्तर प्रदेश नगर निगम अधिनियम-1959 की धारा-114 (20) और नगर पालिका अधिनियम-1916 की धारा-7 (जी) में की गई व्यवस्था के अनुसार, नगरीय निकाय की सीमा के अंतर्गत मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए अंत्येष्टि स्थलों, कब्रिस्तानों और शवदाह गृहों की व्यवस्था करना नगरीय निकायों का मूल कर्तव्य है।

इस संबंध में जिलों के अधिकारियों को निर्देश जारी किया गया है।

बता दें कि प्रदेश में कोरोना के कारण हर रोज मौतें हो रही हैं। शहरों में तो शव जलाने के लिए कई जगह कतारें भी लगानी पड़ रही हैं। इस दौरान कई ऐसे मामले आए हैं जब परिजनों के पास अंतिम संस्कार के लिए धन नहीं बच। इसे ध्यान में रखते हुए ये आदेश जारी किया  गया है।

अगर शुक्रवार की ही बात करें तो प्रदेश में रिकॉर्ड 372 मौतें हुई हैं। इसके पहले पांच मई को 357 लोगों की मौत हुई थी। प्रदेश में बीते शुक्रवार को कोरोना संक्रमण के 28076 नए मामले सामने आए हैं। हालांकि, 33117 मरीज स्वस्थ भी हुए जिनकी संख्या नए मरीजों से करीब पांच हजार ज्यादा है।

वहीं, पूरे देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के कहर से हाहाकार मचा है। कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी से देश की स्वास्थ्य प्रणाली चरमरा गई। देश में जहां पिछले तीन दिन से हर रोज 4 लाख से अधिक नए कोरोना मरीज मिल रहे हैं। वहीं देश में पहली बार 24 घंटे में रिकॉर्ड 4,187 लोगों की कोरोना से मौत हो गई जोकि एक दिन में दर्ज की गई मौतों की अब तक की सबसे अधिक संख्या है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को को यह जानकारी दी।

Source link