Tech & Travel

Follow for more updates

Covid Safety Helmet Sixth Class girl of varanasi invented

वाराणसी: कोरोना महामारी (Coronavirus) को रोकने और इसके बचाव के लिए लगातार नए-नए शोध हो रहे हैं. इसी बीच वाराणसी में छठी क्लास में पढ़ने वाली अपेक्षा ने कोरोना सेफ्टी हेलमेट (Corona Safety Helmet) इजाद किया है जो लोगों की सुरक्षा के साथ उन्हें मेडिकल इमरजेंसी में भी मदद करेगा. 

इस तरह करता है काम

उत्तर प्रदेश के वाराणसी के कक्षा 6 की 12 वर्षीय छात्रा ने एक कोरोना सेफ्टी हेलमेट (Corona Safety Helmet) बनाया है. ये हवा में वायरस को सैनिटाइज करके खत्म करने में सक्षम है. उन्होंने बताया कि हेलमेट के दाएं ओर आईआर सेंसर लगे हुए हैं. सेंसर के सामने कोई भी ऑब्जेक्ट आएगा तो हेलमेट में लगा सैनिटाइजर फॉग सिस्टम ऑन हो जाएगा. जिससे उसके सामने पड़ने वाले व्यक्ति को सैनिटाइज कर देगा. इसके अलावा एक डिग्गी या गाड़ी के हैंडल में भी सेट किया जा सकता है, जिससे आस-पास व्यक्ति के आने पर यह ऑटोमैटिक आपको सैनिटाइज कर देगा. 

कितनी है रेंज?

इसकी रेंज अभी तीन मीटर तक ही है. यह अभी प्रोटाटाइप बनाया गया है. इसे बनाने में करीब 1500 रूपये का खर्च आया है. सिस्टम अगर यातायात विभाग प्रयोग करेगा तो कारगर सिद्ध होगा. डिवाइस को ब्लू टूथ से अटैच करके एक डाक्टर का नंबर भी डाला जा सकता है. जो कि मेडिकल इमरजेंसी में काम आएगा. उन्होंने बताया कि हेलमेट में लगी डिवाइस के जरिए अपने डॉक्टर को फोन किया जा सकता है. हेलमेट से एक्सीडेंट होने पर सहायता मिल जाएगी. ये एक घण्टे चार्ज करने पर दो दिनों तक काम करने में सक्षम है.

इन पुरनी चीजों का किया प्रयोग

इसे बनाने में बेकार पड़े खिलौने के पार्ट्स, रिले, आईआर सेंसर, 9 वोल्ट की बैटरी का इस्तेमाल किया गया है. आईआईटी बीएचयू के स्कूल ऑफ बायोमेडिकल इंजीनिरिंग विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डा. मार्शल धयाल ने बताया कि ‘यह अच्छा आइडिया है. यह हेलमेट कोरोना काल के समय अस्पताल और डॉक्टर के पास हवा में फैले वायरस को कम करने में सहायक हो सकता है. इसे फेस शील्ड की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं. छात्रा का अच्छा प्रयास है.’

यह भी पढ़ें: दिल्ली: बत्रा हॉस्पिटल में मृतकों की संख्या बढ़ी, ऑक्सीजन की कमी से 12 की मौत

छोटे बच्चों का बड़ा काम

वाराणसी के सक्षम स्कूल की संस्थापक सुबिना चोपड़ा ने बताया कि ‘कोरोना के समय में छोटे-छोटे बच्चे नवाचार कर रहे हैं. यह स्मार्ट हेलमेट इस महामारी के समय काफी उपयोगी सिद्ध हो सकता है.’ वाराणसी के युवा वैज्ञानिक श्याम चौरसिया ने बताया कि ‘यह प्रयोग काफी अच्छा है. यह हवा में फैले वायरस को सैनिटाइजर के जरिए खत्म कर सकता है. इसके अलावा भीड़-भाड़ के इलाके के संक्रमण को खत्म करने में सहायक है.’

LIVE TV

Source link