Tech & Travel

Follow for more updates

Covid 19 Vaccination Third Phase May Stop Because Madhya Pradesh Maharashtra And Many States Do Not Have Vaccines – संकट: 18+ को कैसे लगेगा टीका? कई राज्यों में वैक्सीन की कमी, इनमें भाजपा शासित प्रदेश भी

सार

एक मई यानी कल से देश में वैक्सीनेशन का तीसरा चरण शुरू होने वाला है लेकिन इससे पहले ही कई राज्यों ने हाथ खड़े कर दिए हैं। कई राज्यों का कहना है कि उनके पास पर्याप्त खुराकें नहीं है, जिस वजह से टीकाकरण नहीं शुरू हो पाएगा।

ख़बर सुनें

कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ने के लिए वैक्सीनेशन को कारगार हथियार माना जा रहा है। वहीं एक मई से टीकाकरण अभियान का तीसरा चरण शुरू होने वाला है, जिसके तहत 18 साल से ज्यादा आयु के लोगों को कोरोना का टीका लगना है। लेकिन टीका लगाने से पहले कई राज्यों ने हाथ खड़े कर दिए हैं और कहा कि उनके यहां पर्याप्त कोरोना वैक्सीन नहीं है।

महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, गुजरात के बाद अब पंजाब, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में भी पहली मई से 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन लग पाना मुश्किल सा लग रहा है। इन राज्यों का कहना है कि इनके पास पर्याप्त वैक्सीन की खुराकें नहीं है। वहीं इससे पहले दिल्ली, राजस्थान, छत्तीसगढ़, कर्नाटक और तमिलनाडु भी ऐसा एलान कर चुके हैं। 

कर्नाटक में नहीं होगा टीकाकरण
कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर के सुधाकर ने कहा कि हमने सीरम इंस्टीट्यूट को एक करोड़ खुराकें लेने का ऑर्डर दिया लेकिन वो कल तक हमें वैक्सीन देने के लिए तैयार नहीं हुए। हमारी 18-44 साल के उम्र वाले लोगों से अपील है कि कल वो अस्पताल ना आए क्योंकि राज्य में वैक्सीन नहीं है।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जानकारी दी कि वैक्सीन की खुराकों की पर्याप्त आपूर्ति ना होने की वजह से एक मई से राज्य में टीकाकरण शुरू नहीं हो पाएगा। उन्होंने कहा कि तीन मई से राज्य में लोगों को टीका लग सकता है। इधर पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने कहा कि टीके की पर्याप्त खुराकें ना होने की वजह से टीकाकरण में समस्या आ सकती है।

वहीं तेलंगाना के जन स्वास्थ्य के महानिदेशक जी श्रीनिवास राव का कहना है कि राज्य सरकार टीका निर्माता कंपनियों के संपर्क में है लेकिन कब तक टीका उपलब्ध हो जाएगा, इसकी कोई गारंटी नहीं है। इसके अलावा आंध्र प्रदेश में राज्य सरकार ने निर्माता कंपनियों को वैक्सीन उपलब्ध कराने को लेकर पत्र लिखा लेकिन उसकी पुष्टि नहीं मिली है। उन्होंने कहा कि 18-44 साल के बीच लोगों को टीका लगाने में देरी हो सकती है। 

महाराष्ट्र में वैक्सीन की कमी
वहीं महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री ने सीरम इंस्टीट्यूट को करीब सात करोड़ डोज का ऑर्डर दिया लेकिन सीरम के अधिकारी ने 15 मई से पहले ना मिलने की पुष्टि की। महाराष्ट्र में टीके की इतनी कमी है कि वहां अगर समय से आपूर्ति नहीं हुई तो अगले दो दिनों के टीकाकरण रोकना पड़ सकता है।

इधर बिहार और झारखंड में भी एक मई से टीकाकरण ना शुरू होने की बात कही गई है। दोनों राज्यों के पास पर्याप्त वैक्सीन नहीं है।

विस्तार

कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ने के लिए वैक्सीनेशन को कारगार हथियार माना जा रहा है। वहीं एक मई से टीकाकरण अभियान का तीसरा चरण शुरू होने वाला है, जिसके तहत 18 साल से ज्यादा आयु के लोगों को कोरोना का टीका लगना है। लेकिन टीका लगाने से पहले कई राज्यों ने हाथ खड़े कर दिए हैं और कहा कि उनके यहां पर्याप्त कोरोना वैक्सीन नहीं है।

महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, गुजरात के बाद अब पंजाब, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में भी पहली मई से 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन लग पाना मुश्किल सा लग रहा है। इन राज्यों का कहना है कि इनके पास पर्याप्त वैक्सीन की खुराकें नहीं है। वहीं इससे पहले दिल्ली, राजस्थान, छत्तीसगढ़, कर्नाटक और तमिलनाडु भी ऐसा एलान कर चुके हैं। 

कर्नाटक में नहीं होगा टीकाकरण

कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर के सुधाकर ने कहा कि हमने सीरम इंस्टीट्यूट को एक करोड़ खुराकें लेने का ऑर्डर दिया लेकिन वो कल तक हमें वैक्सीन देने के लिए तैयार नहीं हुए। हमारी 18-44 साल के उम्र वाले लोगों से अपील है कि कल वो अस्पताल ना आए क्योंकि राज्य में वैक्सीन नहीं है।


आगे पढ़ें

मध्यप्रदेश, पंजाब समेत कई राज्यों में वैक्सीन की कमी

Source link