Tech & Travel

Follow for more updates

Coronavirus : Us Vice President Kamala Harris, Know What She Said Horrific Situation Of Corona In India – कोरोना : कमला हैरिस बोलीं- हम भारत के साथ, हर संभव मदद कर रहे

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, वॉशिंगटन।
Published by: योगेश साहू
Updated Fri, 07 May 2021 10:33 PM IST

सार

उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने कहा कि भारत में कोरोना की दूसरी लहर से बने हालात और मौत के बढ़ते मामले दिल दहला देने वाली घटनाओं से कम नहीं हैं। आपमें से जिन्होंने अपने प्रियजनों को खोया है, उनके प्रति मैं अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त करती हूं।

ख़बर सुनें

भारत में कोरोना की दूसरी लहर के प्रसार के बाद से ही दुनियाभर के देशों से मदद मिल रही है। इस बीच अमेरिका की उप राष्ट्रपति कमला हैरिस ने भी भारत की हर संभव मदद की बात कही है। कमला ने अपने संबोधन में राष्ट्रपति जो बाइडन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच फोन पर हुई बातचीत का उल्लेख भी किया।

उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने कहा कि भारत में कोरोना की दूसरी लहर से बने हालात और मौत के बढ़ते मामले दिल दहला देने वाली घटनाओं से कम नहीं हैं। आपमें से जिन्होंने अपने प्रियजनों को खोया है, उनके प्रति मैं अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त करती हूं। उन्होंने कहा कि जैसे ही गंभीर स्थिति के बारे में जानकारी मिली, हमारे प्रशासन ने उचित कदम उठाने शुरू कर दिए थे।

हैरिस ने कहा कि बीती 26 अप्रैल को राष्ट्रपति जो बाइडन ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ फोन पर बात की थी। इसके बाद 30 अप्रैल को अमेरिका की ओर से राहत सामग्री पहुंचाई जा चुकी थी। उन्होंने कहा कि हमने पहले से ही रिफिल करने योग्य ऑक्सीजन सिलिंडर और ऑक्सीजन सांद्रक भेजे हैं और भी भेजे जाएंगे। हमने एन95 मास्क भेजे हैं और भी अधिक भेजने के लिए तैयारी जारी है। हमने कोविड रोगियों के इलाज के लिए रेमेडिसविर की खुराक भी दी है।

हैरिस ने कहा कि हमने कोविड-19 टीकों पर पेटेंट को निलंबित करने के लिए हमारे पूर्ण समर्थन दिया है। हमने भारत और अन्य देशों को अपने लोगों का और अधिक तेजी से टीकाकरण करने में मदद करने की घोषणा की है। भारत और संयुक्त राज्य अमेरिका में दुनिया में सबसे अधिक कोविड-19 मामले हैं।

कमला ने कहा कि महामारी की शुरुआत में जब हमारे यहां अस्पतालों में बेड बढ़ाए जाने थे, तब भारत ने सहायता भेजी थी। आज, हम भारत को उसकी जरूरत के समय में मदद करने के लिए दृढ़ हैं। हम इसे भारत के लिए एक दोस्त के रूप में, एशियाई क्वाड के सदस्यों के रूप में और वैश्विक समुदाय के हिस्से के रूप में कर रहे हैं।

अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस के मामा जी. बालाचंद्रन इस साल 80 वर्ष के हो गए हैं और अगर कोरोना वायरस वैश्विक महामारी न आई होती तो वह अपने परिवार के सदस्यों से घिरे होते, जो उनके साथ जन्मदिन के जश्न में शरीक होते।

लेकिन अपने गृह देश भारत में वायरस के प्रकोप के चलते बालाचंद्रन को इस बार सिर्फ फोन पर बधाई के संदेशों से काम चलाना पड़ा। इनमें से एक संदेश उनकी बेहद लोकप्रिय भांजी अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस का भी था। उन्होंने नई दिल्ली में अपने घर से जूम पर हुए साक्षात्कार में बृहस्पतिवार को कहा कि दुर्भाग्य से, कोविड के कारण, मैं बड़ा कार्यक्रम नहीं कर पाया

विस्तार

भारत में कोरोना की दूसरी लहर के प्रसार के बाद से ही दुनियाभर के देशों से मदद मिल रही है। इस बीच अमेरिका की उप राष्ट्रपति कमला हैरिस ने भी भारत की हर संभव मदद की बात कही है। कमला ने अपने संबोधन में राष्ट्रपति जो बाइडन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच फोन पर हुई बातचीत का उल्लेख भी किया।

उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने कहा कि भारत में कोरोना की दूसरी लहर से बने हालात और मौत के बढ़ते मामले दिल दहला देने वाली घटनाओं से कम नहीं हैं। आपमें से जिन्होंने अपने प्रियजनों को खोया है, उनके प्रति मैं अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त करती हूं। उन्होंने कहा कि जैसे ही गंभीर स्थिति के बारे में जानकारी मिली, हमारे प्रशासन ने उचित कदम उठाने शुरू कर दिए थे।

हैरिस ने कहा कि बीती 26 अप्रैल को राष्ट्रपति जो बाइडन ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ फोन पर बात की थी। इसके बाद 30 अप्रैल को अमेरिका की ओर से राहत सामग्री पहुंचाई जा चुकी थी। उन्होंने कहा कि हमने पहले से ही रिफिल करने योग्य ऑक्सीजन सिलिंडर और ऑक्सीजन सांद्रक भेजे हैं और भी भेजे जाएंगे। हमने एन95 मास्क भेजे हैं और भी अधिक भेजने के लिए तैयारी जारी है। हमने कोविड रोगियों के इलाज के लिए रेमेडिसविर की खुराक भी दी है।

हैरिस ने कहा कि हमने कोविड-19 टीकों पर पेटेंट को निलंबित करने के लिए हमारे पूर्ण समर्थन दिया है। हमने भारत और अन्य देशों को अपने लोगों का और अधिक तेजी से टीकाकरण करने में मदद करने की घोषणा की है। भारत और संयुक्त राज्य अमेरिका में दुनिया में सबसे अधिक कोविड-19 मामले हैं।

कमला ने कहा कि महामारी की शुरुआत में जब हमारे यहां अस्पतालों में बेड बढ़ाए जाने थे, तब भारत ने सहायता भेजी थी। आज, हम भारत को उसकी जरूरत के समय में मदद करने के लिए दृढ़ हैं। हम इसे भारत के लिए एक दोस्त के रूप में, एशियाई क्वाड के सदस्यों के रूप में और वैश्विक समुदाय के हिस्से के रूप में कर रहे हैं।


आगे पढ़ें

भारत में घिरा हैरिस का परिवार

Source link