Tech & Travel

Follow for more updates

Corona virus will end in 60 seconds! Herbal Mouth Sanitizer launched in the market | 60 सेकेंड में खत्म होगा Coronavirus! मार्केट में लॉन्च हुआ Herbal Mouth Sanitizer

लखनऊ: कोरोना के वायरस (Coronavirus) मुंह से बाहर निकलकर दूसरे को संक्रमित न करें, इसलिए मास्क का चलन बढ़ाने को कहा गया है. यही वायरस विषाणु मुंह-नाक के रास्ते फेफड़े तक पहुंचकर उन्हें नुकसान पहुंचा रहे हैं. अगर इस वायरस को मुंह में खत्म कर दिया जाए तो न यह सीने को संक्रमित कर पाएगा, न ही थूक के जरिए बाहर निकलकर लोगों को बीमार करेगा. 

60 सेकेंड में नष्ट हो जाएगा वायरस

इसी को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश (UP) निवासी अमेरिकी वैज्ञानिक ने एक हर्बल माउथ सैनिटाइजर (Herbal Mouth Sanitizer) तैयार किया है. इसके प्रयोग से कोरोना वायरस मुंह में ही नष्ट हो जाएगा. यह पूरी तरह से प्राकृतिक है. इसमें किसी प्रकार का कोई कैमिकल नहीं मिलाया गया है. सिद्धार्थनगर के बांसी के मूल निवासी और अमेरिका के मेरीलैंड में यूनिफाम्र्ड सर्विसेज आफ हेल्थ साइंस में वैज्ञानिक सहायक प्रोफेसर डॉ. शाश्वत शरद श्रीवास्तव ने ऐसा हर्बल सैनिटाइजर बनाया है, जिससे 60 सेकेंड तक गरारा करने पर कोरोना वायरस नष्ट हो जाता है.

ये भी पढ़ें:- मुंबई में थमी Covid-19 की रफ्तार, 10% से नीचे पहुंचा टेस्ट पॉजिटिविटी रेट

4-5 घंटे तक रहता है ‘गरारे’ का असर

श्रीवास्तव ने बताया कि उन्होंने यह हर्बल सैनिटाइजर बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालोजी एंड साइंस हैदराबाद की प्रोफेसर डॉ. सुमन कपूर के साथ मिलकर राइटश्योर नाम से हर्बल एंटीवायरल माउथवाश एंड गार्गल का निर्माण किया है. दवा के तौर पर प्रयोग के लिए AIIMS जोधपुर में इसका क्लीनिकल ट्रायल चल रहा है. डॉ. शरद ने बताया कि यह माउथवाश मुंह के वायरस, बैक्टीरिया और अन्य रोगों के कारक को नष्ट करता है. इसमें मुलेठी, ब्राह्मी, शतावरी, कलौंजी, नीम, तुलसी, अश्वगंधा, सौंफ जैसी 24 औषधियों का अर्क है, जबकि दूसरे माउथवाश में संश्लेशित कैमिकल होता है, जिसका लंबे समय तक प्रयोग नुकसानदायक हो सकता है. इस हर्बल सैनिटाइजर से गरारे का असर चार-पांच घंटे तक रहता है.

ये भी पढ़ें:- सोशल मीडिया पर मदद मांगना गलत नहीं, अफवाह बोलकर FIR हुई तो करेंगे कार्रवाई: SC

कोरोना मरीजों के इलाज में भी कारगर

यह हर्बल सैनिटाइजर कोरोना वायरस सहित किसी भी वायरस को मारने में सक्षम है. 3ML इस माउथवाश को 30ML पानी मे डाल कर दिन में तीन से चार बार 60 सेकेंड तक गरारा करने से वायरस व्यक्ति के गले में ही खत्म हो जाता है. जिससे वायरस को शरीर के अंदर जाने से रोका जा सकता है. कोरोना संक्रमित व्यक्ति भी इससे गरारा करने से जल्द ही संक्रमण मुक्त हो सकता है. अमेजन में यह राइट श्योर गार्गल और वन एमजी की बेवासाइट पर उपलब्ध है. अभी इसकी कीमत करीब 249 रुपए है.

ये भी पढ़ें:- कोरोना: राहुल गांधी ने केंद्र पर कसा तंज, ट्वीट कर कहा- कर दिया सिस्टम ने आत्मनिर्भर!

इस तरह इंसानों के शरीर में पनपता है कोरोना

डॉ. शाश्वत ने बताया कि, ‘कोविड-19 वायरस संक्रमण के पहले 5 दिन जीभ और गले में पनपता है. वहां गुणात्मक वृद्धि करने के बाद वह फेफड़ों को संक्रमित कर गंभीर संकट पैदा करता है. इस हर्बल सैनिटाइजर में प्रचुर मात्रा में सैपोनिन है, जो वायरस के वसीय आवरण को नष्ट कर देता है. इससे वायरस लोड कम हो जाता है और सांस लेने में संक्रमण की आशंका काफी कम करता है. वायरस के आवरण में पाए जाने वाले एस ग्लाइकोप्रोटीन में मैनोस और मैनन ग्लायकन होता है, जिससे सैनिटाइजर के तत्व तेजी से क्रिया करते हैं. ऐसे में कोरोना वायरस मानव कोशिका से जुड़ नहीं पाता है और वह निष्क्रिय हो जाता है. इसलिए सांस के जरिए बाहर आने के बाद भी वायरस नए व्यक्ति को संक्रमित नहीं कर पाता.’

ये भी पढ़ें:- 1 मई से 18+ को इन राज्यों में नहीं लगेगी Corona Vaccine, जानें अपने शहर का हाल

बिना साइड इफेक्ट्स मरीज हो सकेंगे ठीक

वैश्विक आकंड़े बताते हैं कि लगभग 10 से 15 प्रतिशत मरीजों में यह निमोनिया जैसे गंभीर रोग में परिवर्तित हो जाता है. राइटश्योर माउथवॉश और गार्गल पर्यावरण और मानव स्वास्थ्य को बिना नुकसान पहुंचाए संक्रमण को रोकने में सक्षम है. ये विभिन्न प्राकृतिक हर्बल पदार्थों का एक ऐसा नवीन संयोजन है जो श्वास कणों के द्वारा संचरित होने वाले सार्स-कोव2 जैसे भयानक संक्रमणों को रोकने में सक्षम है. अत: यह संक्रमित व्यक्तियों में रोग के प्रसार की तीव्रता कम कर सुरक्षा प्रदान करने में सक्षम होता है.

LIVE TV

Source link