Tech & Travel

Follow for more updates

Babul Supriyo summoned by West Bengal Police Governor approved case against TMC leaders । बंगाल: बाबुल सुप्रियो को पुलिस ने दिया समन, राज्‍यपाल ने TMC के 4 नेताओं के खिलाफ केस चलाने की दी मंजूरी

कोलकाता: केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो (Union minister Babul Supriyo) को पश्चिम बंगाल पुलिस ने समन जारी किया है. उन्हें नोटिस प्राप्त होने के 3 दिन के अंदर हरोरा पुलिस स्टेशन में हाजिर होने के लिए कहा गया है. उन्हें U/S 41 (A) CRPC के तहत नोटिस दिया गया है. 

TMC नेताओं पर चलेगा केस

दूसरी तरफ ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) कैबिनेट के शपथ लेने के कुछ घंटे पहले, बंगाल के राज्यपाल ने बंगाल के चार पूर्व मंत्रियों और TMC नेताओं – फिरहाद हकीम, सुब्रत मुखर्जी, मदन मित्रा और सोवन चटर्जी पर मुकदमा चलाने के लिए CBI को मंजूरी दी है. बंगाल के राज्यपाल ने कहा है कि मंत्रिपद संभालने के बाद ये लोग कमीशन के अपराध में शामिल थे इन आरोपों की जांच के आधार पर मंजूरी दी गई है. सीबीआई सूत्रों का कहना है कि जनवरी में राज्यपाल से मंजूरी मांगी गई थी. बता दें, कल कुल 43 मंत्री शपथ लेंगे जिनमें से 24 कैबिनेट मंत्री और 19 MoS हैं.

राज्यपाल से टकराव जारी?

इससे पहले पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने मुख्य सचिव और DGP द्वारा चुनाव के बाद हुई हिंसा के संबंध में कानून-व्यवस्था की स्थिति से अवगत नहीं कराने के लिए नाराजगी जताई है. राज्यपाल ने मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय और पुलिस महानिदेशक वीरेंद्र को पश्चिम बंगाल में कानून-व्यवस्था की स्थिति से अवगत कराने के लिए शनिवार शाम राजभवन बुलाया था. दोनों अधिकारियों से मुलाकात के बाद धनखड़ ने ट्वीट किया, ‘दुर्भाग्यपूर्ण है कि दोनों अधिकारी मांगी गई रिपोर्ट के साथ नहीं आए. उन्हें बिना किसी देरी के रिपोर्ट देने का निर्देश दिया गया. इस तरह का रुख बहुत पीड़ादायक है.’

यह भी पढ़ें: ‘कोरोना सुपर स्प्रेडर गैंग’ का हैरान करने वाला खुलासा, इस तरह बेच रहे थे ‘मौत’

कल 43 मंत्री लेंगे शपथ 

बता दें, बंगाल में कल कुल 43 मंत्री शपथ लेंगे जिनमें से 24 कैबिनेट मंत्री और 19 MoS हैं. ममता की नई मंत्रिपरिषद के बारे में कई दिनों से कयास लगाए जा रहे हैं. तृणमूल कांग्रेस के शीर्ष पदस्थ सूत्रों से पता चला है कि नए विधायकों में से मंत्री हो सकते हैं. पिछली बार कुल 44 मंत्री थे, जिनमें से 28 कैबिनेट मंत्री थे और 16 राज्य मंत्री थे. दिलचस्प बात यह है कि इस बार ममता बनर्जी को अपने मंत्रिमंडल के 9 मंत्रियों को छोड़कर अपनी कैबिनेट बनानी होगी, जिसमें तीन दिग्गज नेता वित्त और उद्योग मंत्री अमित मित्रा, पर्यटन मंत्री गौतम देब और तकनीकी शिक्षा मंत्री पूर्णेंदु बसु शामिल हैं. मित्रा और बसु ने चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया था, लेकिन देब उत्तर बंगाल में भाजपा के सिख चटर्जी डाबग्राम-फुबरी निर्वाचन क्षेत्र से हार गए.

LIVE TV

Source link