Tech & Travel

Follow for more updates

Azamgarh Hooch Tragedy 10 People Died After Drinking Poisonous Liquor In Azamgarh And Ambedkar Nagar Up Poisonous Liquor Case – यूपी: आजमगढ़-अंबेडकर नगर में जहरीली शराब पीने से 23 ने गंवाई जान, कई की हालत गंभीर

कोरोना कर्फ्यू में खुलेआम जहरीली शराब की बिक्री से पुलिस की कार्य प्रणाली पर सवाल
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

आजमगढ़-अंबेडकरनगर सीमा पर स्थित गांवों में जहरीली शराब ने कहर ढा दिया है। इस शराब के सेवन से 23 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि कई की हालत गंभीर है. दोनों जिलों की फोर्स मौके पर जुटी हुई है.  कोरोना कर्फ्यू के दौरान खुलेआम जहरीली शराब की बिक्री से पुलिस की कार्य प्रणाली पर सवाल उठने लगे हैं।  इस सिलिसले में दो लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।  

मित्तूपुर बाजार में सोमवार की शाम भी अवैध शराब बेची जा रही थी। शराब पीने के बाद दर्जन भर से ज्यादा लोगों की तबीयत खराब हो गई। परिजन रात में ही स्थानीय प्राइवेट अस्पताल में ले जाकर भर्ती कराए जहां एक के बाद एक कर अब तक 23 लोगों की मौत हो गई। वहीं कई अभी प्राइवेट अस्पताल में जीवन मौत से संघर्ष कर रहे है।

मरने वालों में 29 वर्षीय राजेश सोनी पुत्र रमई निवासी मित्तूपुर, 45 वर्षीय लालता पुत्र अज्ञात निवासी सौदमा, 32 वर्षीय मुन्ना व 35 वर्षीय पिंटू निवासी राजेपुर, 60 वर्षीय रीखु निषाद निवासी देवसरा बलईपुर, 50 वर्षीय पुरूषोत्तम पुत्र रामफल निवासी बलईपुर, 25 वर्षीय  रोहित पुत्र लल्लन निवासी भरचकिया, 45 वर्षीय त्रिभुवन पांडेय पुत्र रिखदेव निवासी चकिया, सत्यनरायन तिवारी पुत्र रामफेर निवासी हड़िया थाना पवई व 35 वर्षीय प्रेमशंकर पुत्र राजाराम निवासी उसरहा थाना जलालपुर जिला अंबेडकर नगर शामिल है।

 
इसके अलावा 47 वर्षीय रामफेर पुत्र अच्छेलाल व 25 वर्षीय रवि पुत्र लौटू निवासी मित्तूपुर अभी जीवन मौत से संघर्ष कर रहे हैं। कई और भी अन्य जगहों पर अपना इलाज करा रहे है। शराब के सेवन से मौत की सूचना पर हड़कंप मच गया। आनन फानन आजमगढ़ के एसपी सुधीर कुमार सिंह के अलावा भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंच गई। दो लोगों को पुलिस  हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। हिरासत में लिए गए लोगों में गुड्डू पुत्र मोती व मोती लाल पुत्र रामदेव शामिल है। दोनों क्षेत्र के पुराने अवैध शराब कारोबारी है। 

घटना की जानकारी होते ही मौके पर लोगों की भीड़ जुट गई। वहीं भारी संख्या में पुलिस फोर्स भी पहुंच गई थी। कुछ मीडियाकर्मी व जनसामान्य मौके की फोटो व वीडियोग्राफी कर रहे थे। इसपर एसपी सुधीर कुमार सिंह भड़क उठे और कई लोगों की मोबाइल को छीन लिया।  एसपी द्वारा किए गए दुर्व्यवहार से लोगों में खासा आक्रोश देखने को मिला। 
स्थानीय लोगों की माने तो पुलिस की शह पर ही यह धंधा चल रहा था। सूत्रों की माने तो पुलिस बकायदा एक दिन की बिक्री का एक हजार रुपये रेट तय कर रखी थी। इतना ही नहीं लोग यह भी कह रहे है कि यदि स्थानीय शराब की दुकानों की पड़ताल कराई जाए तो सभी के स्टॉक खाली होंगे। जब दुकान बंद थी तो शराब का स्टॉक कैसे खत्म हो गया। इसकी भी जांच होनी चाहिए। जांच होगी तो अपने आप खुलासा हो जाएगा कि बंदी के बाद भी अवैध रुप से देशी शराब की बिक्री की गई और जब स्टॉक खत्म हो गया तो अवैध शराब बेची गई। जिससे यह घटना हुई। 

मामले में एसपी ग्रामीण (आजमगढ़)  सिद्धार्थ ने कहा कि  अभी कुछ भी कह पाना जल्दबाजी होगी। शराब पीने से मौत हुई है अथवा कोई अन्य कारणों से इसकी जांच पड़ताल की जा रही है। जांच के बाद भी कुछ कहा जा सकता है। कुछ लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। 

विस्तार

आजमगढ़-अंबेडकरनगर सीमा पर स्थित गांवों में जहरीली शराब ने कहर ढा दिया है। इस शराब के सेवन से 23 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि कई की हालत गंभीर है. दोनों जिलों की फोर्स मौके पर जुटी हुई है.  कोरोना कर्फ्यू के दौरान खुलेआम जहरीली शराब की बिक्री से पुलिस की कार्य प्रणाली पर सवाल उठने लगे हैं।  इस सिलिसले में दो लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।  

मित्तूपुर बाजार में सोमवार की शाम भी अवैध शराब बेची जा रही थी। शराब पीने के बाद दर्जन भर से ज्यादा लोगों की तबीयत खराब हो गई। परिजन रात में ही स्थानीय प्राइवेट अस्पताल में ले जाकर भर्ती कराए जहां एक के बाद एक कर अब तक 23 लोगों की मौत हो गई। वहीं कई अभी प्राइवेट अस्पताल में जीवन मौत से संघर्ष कर रहे है।

मरने वालों में 29 वर्षीय राजेश सोनी पुत्र रमई निवासी मित्तूपुर, 45 वर्षीय लालता पुत्र अज्ञात निवासी सौदमा, 32 वर्षीय मुन्ना व 35 वर्षीय पिंटू निवासी राजेपुर, 60 वर्षीय रीखु निषाद निवासी देवसरा बलईपुर, 50 वर्षीय पुरूषोत्तम पुत्र रामफल निवासी बलईपुर, 25 वर्षीय  रोहित पुत्र लल्लन निवासी भरचकिया, 45 वर्षीय त्रिभुवन पांडेय पुत्र रिखदेव निवासी चकिया, सत्यनरायन तिवारी पुत्र रामफेर निवासी हड़िया थाना पवई व 35 वर्षीय प्रेमशंकर पुत्र राजाराम निवासी उसरहा थाना जलालपुर जिला अंबेडकर नगर शामिल है।

 

Source link