Tech & Travel

Follow for more updates

Ambulance Driver Arrested By Mukherjee Nagar Police He Was Demanding 14 Thousand To Deliver Corpse To Nigambodh Ghat From Mukherjee Nagar – शर्मनाक: मुखर्जी नगर से जाना था निगम बोध घाट, एंबुलेंस चालक ने मांग लिए 14 हजार, गिरफ्तार

सार

मुखर्जी नगर थाना पुलिस ने एक एंबुलेंस चालक को गिरफ्तार किया है। यह मुखर्जी नगर के एक अस्पताल से निगम बोध घाट (छह किलोमीटर) तक शव पहुंचाने के 14 हजार रुपये मांग रहा था। 

पुलिस ने एंबुलेंस चालक को किया गिरफ्तार
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

कोरोना महामारी के दौरान मनमानी करने वाले दवा विक्रेताओं, एंबुलेंस चालकों व अन्यों लोगों के खिलाफ एक्शन शुरू हो गया है। लोगों की मजबूरी का फायदा उठाकर ओवरचार्ज करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए शनिवार को दिल्ली पुलिस आयुक्त ने आदेश दिए थे। ऐसे ही एक मामले में मुखर्जी नगर थाना पुलिस ने एक एंबुलेंस चालक को गिरफ्तार किया है।

यह मुखर्जी नगर के एक अस्पताल से निगम बोध घाट (छह किलोमीटर) तक शव पहुंचाने के 14 हजार रुपये मांग रहा था। आरोपी की पहचान कांधी लाल (45) के रूप में हुई है। पुलिस ने आरोपी की एंबुलेंस भी जब्त कर ली है। पकड़े गए आरोपी से पूछताछ कर पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

उत्तर-पश्चिम जिला के अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त डॉ. गुर इकबाल सिंह सिद्धू ने बताया कि शनिवार को एक शख्स ने पुलिस को सूचना दी थी कि न्यू लाइफ अस्पताल से निगम बोध घाट तक के आरोपी एंबुलेंस चालक 14 हजार रुपये वसूल रहा है। सूचना मिलते ही फौरन थाना प्रभारी करण सिंह ने मामले को गंभीरता से लेते हुए एक टीम का गठन किया।

सिपाही महेश को नकली ग्राहक बनाकर एंबुलेंस चालक को कॉल की गई। उससे कोरोना संक्रमित व्यक्ति की मौत के बाद शव को निगमबोध घाट पहुंचाने के बारे में पूछा गया। आरोपी ने बातचीत के बाद 14 हजार रुपये की स्लिप काट दी। आरोपी के खिलाफ सबूत जुटाने के बाद पुलिस ने आरोपी कांधी लाल को गिरफ्तार कर लिया। उससे पूछताछ कर मामले की छानबीन जारी है।
ओखला इंडस्ट्रियल एरिया थाना पुलिस ने मरीज के परिजनों से ईएसआई अस्पताल ओखला से कोविड मरीज को एम्स पहुंचाने के बदले नौ हजार रुपये मांगने वाले एंबुलेंस चालक को गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान बबलू (22) के रूप में हुई है। पीड़ित सैयद शाहनवाज मियां नूरी ने शनिवार को ओखला इंडस्ट्रियल एरिया थाने में एंबुलेंस चालक की शिकायत की थी।

पुलिस ने फौरन एक टीम का गठन किया। इसके बाद एक नकली ग्राहक बनकर पुलिस कर्मी ने कॉल किया। मरीज को ईएसआई अस्पताल से एम्स शिफ्ट करने की बात की गई। आरोपी ने दस किलोमीटर के नौ हजार रुपये मांगे जो सौदेबाजी के बाद छह हजार रुपये में तय हो गया। रुपये देते समय आरोपी को रंगे हाथों पकड़ लिया गया।

मेडिकल स्टोर मालिक चार गुना महंगा सामान बेचने के आरोप में गिरफ्तार
दक्षिण-पूर्व जिला की जामिया नगर थाना पुलिस ने मेडिकल स्टोर मालिक को चार गुना महंगा सामान बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपी की दुकान से तीन ऑक्सीजन फ्लो मीटर, दो वाटर नोजिल, 18 ऑक्सीजन पंप बरामद किए हैं। पुलिस ने एडवांस मेडिकल होम केयर के मालिक सुधीर गहलोत (39) को गिरफ्तार किया है। आरोपी परिवार के साथ मोहन गार्डन, उत्तम नगर में रहता है।

पुलिस को सूचना मिली थी कि आरोपी महामारी के दौरान इसकी जरूरत से जुड़े उपकरण महंगे बेच रहा है। पुलिस ने आरोपी के पास एक नकली ग्राहक भेजा। आरोपी ने ऑक्सीजन फ्लो मीटर चार गुना महंगा दिया। इसके बाद पुलिस ने आरोपी को रंगे  हाथों पकड़ लिया। आरोपी ग्रेजुएट है। महामारी के दौरान जल्दी रुपये कमाने के लिए आरोपी मेडिकल स्टोर पर महंगा सामान बेच रहा था।
 

विस्तार

कोरोना महामारी के दौरान मनमानी करने वाले दवा विक्रेताओं, एंबुलेंस चालकों व अन्यों लोगों के खिलाफ एक्शन शुरू हो गया है। लोगों की मजबूरी का फायदा उठाकर ओवरचार्ज करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए शनिवार को दिल्ली पुलिस आयुक्त ने आदेश दिए थे। ऐसे ही एक मामले में मुखर्जी नगर थाना पुलिस ने एक एंबुलेंस चालक को गिरफ्तार किया है।

यह मुखर्जी नगर के एक अस्पताल से निगम बोध घाट (छह किलोमीटर) तक शव पहुंचाने के 14 हजार रुपये मांग रहा था। आरोपी की पहचान कांधी लाल (45) के रूप में हुई है। पुलिस ने आरोपी की एंबुलेंस भी जब्त कर ली है। पकड़े गए आरोपी से पूछताछ कर पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

उत्तर-पश्चिम जिला के अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त डॉ. गुर इकबाल सिंह सिद्धू ने बताया कि शनिवार को एक शख्स ने पुलिस को सूचना दी थी कि न्यू लाइफ अस्पताल से निगम बोध घाट तक के आरोपी एंबुलेंस चालक 14 हजार रुपये वसूल रहा है। सूचना मिलते ही फौरन थाना प्रभारी करण सिंह ने मामले को गंभीरता से लेते हुए एक टीम का गठन किया।

सिपाही महेश को नकली ग्राहक बनाकर एंबुलेंस चालक को कॉल की गई। उससे कोरोना संक्रमित व्यक्ति की मौत के बाद शव को निगमबोध घाट पहुंचाने के बारे में पूछा गया। आरोपी ने बातचीत के बाद 14 हजार रुपये की स्लिप काट दी। आरोपी के खिलाफ सबूत जुटाने के बाद पुलिस ने आरोपी कांधी लाल को गिरफ्तार कर लिया। उससे पूछताछ कर मामले की छानबीन जारी है।


आगे पढ़ें

ईएसआई अस्पताल ओखला से एम्स मरीज पहुंचाने के मांग रहा था 9000, गिरफ्तार

Source link