Tech & Travel

Follow for more updates

31 Patients Died Due To Covid-19 At Rajindra Hospital Of Punjab – पंजाब: पटियाला के राजिंदरा अस्पताल में 31 कोरोना मरीजों की मौत, जालंधर में 20 दिन के बच्चे ने जीती जंग

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, पटियाला/जालंधर (पंजाब)
Published by: ajay kumar
Updated Fri, 07 May 2021 10:21 PM IST

सार

कोविड वार्ड इंचार्ज सुरभि मलिक ने बताया कि कोरोना के ज्यादातर मरीज गंभीर हालत में आ रहे हैं। इस कारण अस्पताल में मौतों का आंकड़ा ज्यादा है। साथ ही उन्होंने लोगों से अपील की है कि जैसे ही उन्हें कोरोना के लक्षण दिखे, तुरंत टेस्ट कराएं।

ख़बर सुनें

पंजाब के पटियाला स्थित सरकारी राजिंदरा अस्पताल में कोरोना से मौतों के आंकड़ों में कोई कमी नहीं हो रही है। अस्पताल में पिछले 24 घंटे में 31 मरीजों की मौत कोरोना से हो गई। मृतकों में पटियाला के 11 मरीज और दो अन्य राज्यों व पंजाब के अन्य जिलों के 18 मरीज शामिल हैं। वहीं, राजिंदरा अस्पताल में पिछले 24 घंटे में कोरोना को मात देकर 12 मरीज डिस्चार्ज हुए लेकिन 82 नए मरीज दाखिल भी हुए हैं। 

कोविड वार्ड इंचार्ज सुरभि मलिक ने बताया कि कोरोना के ज्यादातर मरीज गंभीर हालत में आ रहे हैं। इस कारण अस्पताल में मौतों का आंकड़ा ज्यादा है। साथ ही उन्होंने लोगों से अपील की है कि जैसे ही उन्हें कोरोना के लक्षण दिखे, तुरंत टेस्ट कराएं। अगर होम आइसोलेशन के दौरान सांस लेने में तकलीफ और बुखार हो तो तुरंत अस्पताल में दाखिल हों। 

नवजात ने कोरोना को दिया मात
पंजाब के जालंधर में 20 दिन के बच्चे ने कोरोना को मात दिया है। बच्चे का इलाज पिम्स अस्पताल में चल रहा था। यह 20 दिन का नवजात बुखार से पीड़ित था और उसे बार-बार दौरा पड़ रहा था। इसके चलते बच्चे को तुरंत कोविड केयर सेंटर में भर्ती किया गया और उसे हर संभव उपचार उपलब्ध करवाया। आखिरकार शुक्रवार को बच्चे को कोविड संक्रमण से मुक्त करार देकर अभिभावकों को सौंप दिया गया।

विस्तार

पंजाब के पटियाला स्थित सरकारी राजिंदरा अस्पताल में कोरोना से मौतों के आंकड़ों में कोई कमी नहीं हो रही है। अस्पताल में पिछले 24 घंटे में 31 मरीजों की मौत कोरोना से हो गई। मृतकों में पटियाला के 11 मरीज और दो अन्य राज्यों व पंजाब के अन्य जिलों के 18 मरीज शामिल हैं। वहीं, राजिंदरा अस्पताल में पिछले 24 घंटे में कोरोना को मात देकर 12 मरीज डिस्चार्ज हुए लेकिन 82 नए मरीज दाखिल भी हुए हैं। 

कोविड वार्ड इंचार्ज सुरभि मलिक ने बताया कि कोरोना के ज्यादातर मरीज गंभीर हालत में आ रहे हैं। इस कारण अस्पताल में मौतों का आंकड़ा ज्यादा है। साथ ही उन्होंने लोगों से अपील की है कि जैसे ही उन्हें कोरोना के लक्षण दिखे, तुरंत टेस्ट कराएं। अगर होम आइसोलेशन के दौरान सांस लेने में तकलीफ और बुखार हो तो तुरंत अस्पताल में दाखिल हों। 

नवजात ने कोरोना को दिया मात

पंजाब के जालंधर में 20 दिन के बच्चे ने कोरोना को मात दिया है। बच्चे का इलाज पिम्स अस्पताल में चल रहा था। यह 20 दिन का नवजात बुखार से पीड़ित था और उसे बार-बार दौरा पड़ रहा था। इसके चलते बच्चे को तुरंत कोविड केयर सेंटर में भर्ती किया गया और उसे हर संभव उपचार उपलब्ध करवाया। आखिरकार शुक्रवार को बच्चे को कोविड संक्रमण से मुक्त करार देकर अभिभावकों को सौंप दिया गया।

Source link